कमलेश तिवारी के हत्यारो पर पाँच लाख का इनाम घोषित

kamlesh tiwari accused arrested

कमलेश तिवारी के हत्याकांड में शामिल आरोपियों की तलाश पुलिस ने काफी तेज कर दी है। डीजीपी ओपी सिंह ने कमलेश तिवारी हत्याकांड में फरार दोनों हत्यारों पर ढाई-ढाई लाख रुपये का इनाम घोषित किया। लखनऊ पुलिस ने बताया है की उत्तर प्रदेश के साथ कई अन्य राज्य तथा पड़ोसी देश नेपाल में भी इनकी तलाश जारी है। बता दें की यूपी पुलिस कमलेश तिवारी हत्याकांड की साजिश रचने वाले आरोपियों को गुजरात से लेकर लखनऊ पहुंच गई है। दोनों को सोमवार की सुबह फ्लाइट से लखनऊ लाया गया। बताया जा रहा है कि अब दोपहर बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा।

बता दें की शुक्रवार को लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की उनके दफ्तर में हत्या कर दी गई थी। उनके शरीर में चाकू से किए गए कई वार के निशान मिले। उन्हें एक गोली भी मारी गई थी। इस मामले में गुजरात के सूरत से तीन व्यक्तियों मौलाना शेख सलीम, फैजान और राशिद पठान को हिरासत में लिया जा चुका है। जबकि तिवारी की हत्या करने वाले दोनों आरोपी अभी भी फरार चल रहे हैं। लखनऊ पुलिस टीम ने बताया की इस हत्याकांड में शामिल दो अन्य संदिग्धों को शाहजहांपुर में देखे जाने की खबर भी है। फिलहाल एसटीएफ शाहजहांपुर में डेरा जमाए हुए हैं। सूत्रों की मानें तो कमलेश तिवारी हत्या के संदिग्ध हत्यारे लखीमपुर जिले के पलिया से इनोवा गाड़ी बुक करा कर शाहजहांपुर पहुंचे थे।

बता दें की हत्या करने वाले दो युवकों को गिरफ्तार करने के लिए अलग अलग टीमें बनाई गई हैं।जानकारी के मुताबिक कमलेश की हत्या 2015 में पैेगंबर साहब को लेकर दिए गए विवादित बयान की वजह से की गई है। इस घटना को अंजाम देने का प्लान रशीद पठान ने बनाया। इसके लिए मोहसिन ने 2015 में कमलेश द्वारा दिए गए विवादित बयान को दिखा कर प्रेरित किया। फैजान ने वह मिठाई खरीदी थी, जिसे लेकर हत्यारे लखनऊ आए थे।

उत्तर प्रदेश के साथ ही महाराष्ट्र, गुजरात, हरियाणा तथा पंजाब में भी दोनों आरोपियों की तलाश जारी हैं। डीजीपी ओपी सिंह ने कहा की हमारा सभी राज्य के पुलिस प्रमुखों से संपर्क है। कल हमने डीजीपी कर्नाटक के साथ महाराष्ट्र व डीजीपी गुजरात से बात की थी। हम सभी सूचनाओं का विश्लेषण कर रहे हैं किसी पहलू से इनकार नहीं कर रहे हैं। कमलेश तिवारी हत्याकांड में कनेक्शन यूपी से बाहर का भी है। इस दौरान बिजनौर के मौलानाओं से लगातार पूछताछ चल रही है।