K-9 वज्र तोप दुश्मन के छुड़ा देगी छक्के

भारीय सेना में K-9 वज्र तोप को शामिल कार लिया गया है। कल रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुजरात के सूरत में स्थित हजीरा लार्सन एंड टुब्रो आर्मर्ड सिस्टम कॉम्प्लेक्स में K-9 वज्र तोप को हरी झंडी दिखाई। बता दें मेक इन इंडिया के तहत 2017 में लार्सन एंड टुब्रो को K-9 वज्र तोप की 100 यूनिट आपूर्ति के लिए कॉन्ट्रैक्ट दिया था और इसके लिए 4500 करोड़ रूपए खर्च हुए है। रक्षा मंत्री ने इसकी सवारी भी कल की थी। इससे पहले इस तोप को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी चला चुके है।

उत्तर प्रदेश में आज प्रदेश भर के वकीलों की बड़ी हड़ताल जारी

K-9 वज्र तोप की खासियत

➤ 15 सेकेण्ड में एक साथ छोड़ेगी तीन गोले
➤ गोलों का वजन 47 किलोग्राम है
➤ K-9 वज्र 43 किलोमीटर की दूरी पर भी स्थित को तहस नहस कार सकती है।
➤ ये सामान्य जमीन के साथ-साथ रेगिस्तान पर भी आसानी से चल सकती है।

रक्षामंत्री ने कहा की ‘भारतीय सेना पहले से काफी मजबूत और शक्तिशाली हुई है। इस तोप की ध्वनि मुझे एक संगीत की तरह लग रही है।’ हरी झंडी दिखाने से पहले रक्षामंत्री ने K-9 वज्र तोप की पूजा की और नारियल फोड़कर स्वस्तिक का चिन्ह बनाया। बता दें भारतीय सेना को मोदी सरकार में कई तोहफे मिले है जैसे spice – 200 बम का एडवांस वर्जन,कमोव, अपाचे ,राफेल आदि भारतीय सेना को मिले है, जो सेना को शक्तिशाली बनाते है।

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

19 − 8 =