झांसी: मंत्री जय प्रताप सिंह समीक्षा करने पहुंचे अस्पताल, दिए ये दिशा-निर्देश

minister Jay Pratap Singh
minister Jay Pratap Singh

झाँसी में आज मंत्री जय प्रताप सिंह चिकित्सा एवं स्वास्थ्य परिवार कल्याण तथा मातृ एवं शिशु कल्याण विभाग उत्तर प्रदेश नें विकास भवन सभागार में कोविड-19 के बढ़ते केस की समीक्षा की। उन्होंने बिंदुवार अब तक किये गए कार्यों की जानकारी लेते हुए कहा कि कोरोना की दूसरी लहर ज्यादा तेज है, इससे निपटने के लिए जरूरी है कि टेस्टिंग को बढ़ाया जाए।

साथ ही कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग में आने वालों की टेस्टिंग आरटीपीसीआर के माध्यम से 24 घंटे में करना सुनिश्चित करें, यदि ऐसा किया जाता है तो संक्रमण को तेजी से फैलने से रोका जा सकेगा। कोविड-19 की समीक्षा के दौरान मंत्री जी ने कहा कि जिलाधिकारी के निर्देशन में जनपद में अच्छा काम हुआ। वैश्विक महामारी के प्रथम चरण में रेल मार्ग व सड़क द्वारा लाखों की संख्या में दूसरे राज्यों से आने वाले श्रमिकों को उनके गंतव्य तक सभी सुविधाओं के साथ पहुंचाया जाना एक बहुत बड़ी लड़ाई भी जिसे लड़कर जीत चुके हैं।

मंत्री जय प्रताप सिंह ने समीक्षा बैठक में कहा कि जिस प्रकार वैश्विक महामारी कोविड-19 का पूर्व में मिलकर सामना किया, वैसे ही अब करना होगा। उन्होंने कहा कि पहली लहर के दौरान ना कोई जानकारी, ना चिकित्सा सुविधा, ना साधन फिर भी एकजुट होकर कोविड-19 का सामना किया और काफी हद तक कोविड-19 को नियंत्रित किया।

हुगली: इस वजह से 300 गांव वालों ने किया था हमला

परंतु आज हम ने शून्य से प्रारंभ करते हुए सभी सुविधाएं एकत्र कर ली, वैक्सीन तैयार कर लिया, मैन पावर के साथ समाज भी वैश्विक महामारी में हमारे साथ है। कोविड-19 की दूसरी लहर अपेक्षाकृत अधिक तेज है, इससे निपटने के लिए वैक्सीनेशन को बढ़ाना है। 45 वर्ष से ऊपर के भी अधिक से अधिक व्यक्ति वैक्सीनेशन कराना प्रारंभ करें । हम अपने सभी संसाधनों का इस्तेमाल करके इस बीमारी से लड़े ताकि इसके प्रभाव को रोका जा सके। उन्होंने संतोष व्यक्त किया कि जिलाधिकारी के निर्देशन में प्राइवेट नर्सिंग होम भी इस वैश्विक महामारी से लड़ने में प्रशासन के साथ है।

रिपोर्ट – मो. तौसीफ़

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − five =