India पहुंचे Republic Day 2020 के मुख्य अतिथि Jair Bolsonar.

Jair Bolsonar, Brazil President,Republic Day 2020, 26 january 2020, Narendra Modi
image source - google.com

26 January 2020 को भारत में 71वां गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत देश की कई गणमान्य व प्रतिष्ठित शख्सियतें इस गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल होंगी। इन सभी के अलावा एक शख्स हैं, जो यहां मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हो रहे हैं। इनका नाम है- Jair Bolsonar।ब्राजील के राष्ट्रपति है.

हाल ही में अपने कुछ बयानों को लेकर Brazil के राष्ट्रपति सुर्ख़ियों में आए थे,

फ़िलहाल Brazil के राष्ट्रपति Jair Bolsonar अपनी चार दिवसीय यात्रा पर शुक्रवार को भारत पहुंचे। Brazil के राष्ट्रपति पद का कार्यभर संभालने के बाद Jair Bolsonar की यह पहली भारत यात्रा है।

मुख्य अतिथि के तौर पर उनका आज यानी 25 January को राष्ट्रपति भवन में औपचारिक रूप से स्वागत किया गया। इस अवसर पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मौजूद रहें। इसके पहले उन्होंने विदेश मंत्री एस जयशंकर से मुलाकात की थी।

औपचारिक स्वागत के बाद Jair Bolsonar भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे। माना जा रहा है कि इस बैठक में दोनों देशों के बीच व्यापार, सैन्य और स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर समझौता हो सकता है। इस दौरान भारत और ब्राजील के 15 समझौते पर हस्ताक्षर भी होंगे।

बता दें कि 11वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी ने बोलसोनारो को गणतंत्र दिवस समारोह का निमंत्रण दिया था, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया था। Jair Bolsonar की यात्रा के दौरान भारत-ब्राजील के बहुआयामी संबंधों को और बढ़ने व मजबूत होने की उम्मीद है।

अब तक ब्राजील से आए मुख्य अतिथि-

1996 और 2004 में भी Brazil के राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बन चुके हैं। वहीं, 2016 में Brazil के राष्ट्रपति मिशेल टेमेर गोवा में आयोजित 8वीं ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) शिखर सम्मेलन में शिरकत करने भारत आए थे।

Jair Bolsonar के इस भारत दौरे से दोनों देशों के बीच संबंधों में गर्माहट आने की उम्मीद है। भारत में Brazil के राजदूत आंद्रे अरान्हा कोरया डो लागो ने कहा कि राष्ट्रपति भारत दौरे को लेकर उत्साहित हैं। उनका फोकस ऊर्जा, कृषि और रक्षा क्षेत्र में दोनों देशों के आपसी संबंधों को मजबूत करने पर होगा। हम दोनों देशों के बीच सामरिक भागीदारी के लिए कार्ययोजना शुरू करेंगे।