बर्खास्त IPS पर लगा 26 लाख की ठगी का आरोप

गुजरात की राजधानी गाँधीनगर में रहने वाले अमित बलदेव सोलंकी ने बर्खास्त किये गए आईपीएस संजीव भट्ट पर एक और आरोप लगाया है। उनका कहना है कि संजीव भट्ट ने क्राउडफंडिंग के द्वारा 26 रूपए की ठगी किया है। इस मामले में मेट्रोपॉलिटन कोर्ट ने धारा 202 के तहत जांच का आदेश दिया है। संजीव भट्ट फिलहाल मौत के मामले में उम्रकैद की सज़ा काट रहे हैं।

अमित बलदेव सोलंकी का कहना है कि फेसबुक और ट्विटर पर उन्होंने इंडिया फाइल फॉर जस्टिस के बारे में पढ़ा था। जिसमे डेढ़ करोड़ रूपए इकठ्ठा कर के संजीव भट्ट को इन्साफ दिलाने के अलावा 5 अन्य मामलों पर खर्च करने की जानकारी दी हुई थी। इकठ्ठा की गई इस रकम से उनके तोड़ दिए गए मकान की मरम्मत करवाना और उनके परिवार का खर्च शामिल था।

Chandrayaan-2: लैंडर विक्रम की लोकेशन ढूंढने में नासा फिर हुआ असफल

फरियादी का कहना है कि शुरू में उसने संजीव भट्ट से प्रेरित होकर उनके खाते में 11 हज़ार रूपए जमा करवाए। इस अभियान में अब तक कुल 26 लाख रूपए जमा हो चुके हैं। फरियादी ने कहा कि संजीव भट्ट क्राउडफंडिंग को एकाउंटेड मनी का नाम दे रहे हैं जो कालेधन को सफ़ेद करने की कोशिश है।