International Tiger Day: जाने 2006 से 2021 के बीच में कितनी बढ़ी बाघों की संख्या

international tiger day
image source - google

आज 29 July को International Tiger Day मनाया जा रहा है। इस दिवस को मानाने का उद्देश्य विलुप्त हो रही टाइगर की प्रजाति को बचाना है। आपको मालूम होगा की भारत में एक दशक पहले Tiger विलुप्त होने की कगार पर आ गए थे। जबकि भारत का राष्ट्रिय पशु टाइगर है।

इस मौके पर पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस (International Tiger Day) पर, वन्यजीव प्रेमियों, विशेष रूप से बाघ संरक्षण के प्रति उत्साही लोगों को बधाई। विश्व स्तर पर बाघों की 70% से अधिक आबादी का घर भारत है। हम अपने बाघों के लिए सुरक्षित आवास सुनिश्चित करने और बाघों के अनुकूल पारिस्थितिकी तंत्र को पोषित करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हैं।

भारत के 18 राज्यों में 51 tiger reserves है। 2018 की अंतिम बाघ गणना में बाघों की आबादी में वृद्धि देखी गई। भारत ने बाघ संरक्षण पर सेंट पीटर्सबर्ग घोषणा की अनुसूची से 4 साल पहले बाघों की आबादी को दोगुना करने का लक्ष्य हासिल किया।

10 best Blockchain development company you should Outsource your next Remarkable Project

भारत में बाघों की संख्या

भारत में आखरी बार बाघों की गणना 2018 में हुई थी। जिसके अनुसार भारत में 2967 बाघ है। इससे पहले 2014 में 2226 और 2010 में 1706 बाघ गणना में पाए गए थे। 2006 में तो बाघ विलुप्त (1411 Tiger) होने की कगार पर थे। लेकिन सही समय पर चलाये गए अभियान की वजह से आज बाघों की संख्या इतनी बढ़ी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here