CAA व NRC को लेकर लखनऊ में दिखा भारत बंद का असर

Impact of Bharat Bandh in Lucknow
google

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) तथा भारतीय राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) को लेकर आज 29 जनवरी को भारत बंद है। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सीएए तथा एनआरसी को लेकर भारत बंद का असर दिखाई दे रहा है। आज लखनऊ में नक्खास, अमीनाबाद तथा मौलवीगंज आदि जगहों पर दुकानें बंद रहीं। पूरे लखनऊ में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये गए हैं और भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है। हुसैनाबाद के घंटाघर पर 13 दिन गुज़र जाने के बाद भी महिलाओं का विरोध प्रदर्शन आज भी जारी है और महिलाएं यहाँ से हटने के लिए बिलकुल भी तैयार नहीं हैं।

राजधानी लखनऊ में थाना बाजार खाला इलाका, हैदरगंज, तुडियागंज तथा बिल्लोजपुर में भी सभी होटल व दुकानें बंद रही और सड़कों पर सन्नाटा छाया रहा। लोग अपनी अपनी दुकाने बंद करके सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। तुडियागंज के चौराहे पर लजीज होटल भी पूरी तरह से बंद दिखाई दिए वहीँ बिल्लोजपुरा के सभी व्यापारियों ने भी अपनी अपनी दुकानें बंद कर दिया है। अमीनाबाद में भी मौलवीगंज के कपडा व्यवसाय की सभी दुकानें बंद हैं और मार्केट में पूरी तरह से सन्नाटा पसरा हुआ है। थाना बाजार खाला के पूरे इलाके में पुलिस बल तैनात है।

CAA व NRC के खिलाफ कांग्रेस नेता ने नए अंदाज़ में किया विरोध

केंद्र सरकार ने लोकसभा व राज्यसभा में सीएए क़ानून को पास करवाया था और इसके बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 12 दिसंबर को इसे मंज़ूरी दे दी थी। इसके बाद 10 जनवरी को केंद्र सरकार ने राजपत्र जारी करके सीएए को पूरे देश में लागू कर दिया था। सीएए कानून आने के बाद से ही लगातार इसके खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन हो रहा है और लोग इसे रद्द करने की मांग कर रहे हैं लकिन सरकार पीछे हटने के लिए बिलकुल भी तैयार नहीं है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने साफ़ शब्दों में कह दिया है कि सीएए को किसी भी कीमत पर हटाया नहीं जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here