फोरेक्स में ट्रेडिंग की शुरुआत कैसे करे?

how to start trading

वर्तमान समय में फोरेक्स ट्रेडिंग लोगो के बीच काफी लोकप्रिय हो रहा है. कुछ लोग फोरेक्स ट्रेडिंग और करेंसी ट्रेडिंग को अलग-अलग समझते है लेकिन ये दोनों एक ही है. यहाँ तक कि कुछ लोग तो फोरेक्स ट्रेडिंग को ही अपना फुल-टाइम करियर बना रहे है और कुछ लोग इसे पार्ट-टाइम की तरह ले रहे है जिससे उनकी एक्स्ट्रा इनकम हो जाएं.

बहुत से लोगो को फोरेक्स ट्रेडिंग की इतनी जानकारी नहीं है. अगर आप भी उन्ही लोगो में से है और इसके बारे में जानकारी लेने की इच्छा रखते है तो हमारा आज का आर्टिकल पूरा पढ़े. इस आर्टिकल में आप फॉरेक्स ट्रेडिंग क्या है? से लेकर फोरेक्स में ट्रेडिंग की शुरुआत कैसे करे, सभी जानेंगे.

फॉरेक्स ट्रेडिंग क्या है?

चाहे आपको यूरो को डॉलर्स से एक्सचेंज करना हैं या फिर डॉलर को रुपए से, ये सब फोरेक्स ट्रेडिंग का ही हिस्सा है. फोरेक्स ट्रेडिंग करेंसी एक्सचेंज के लिए ग्लोबल मार्किट में इस्तेमाल होने वाला एक टर्म है. 

इसमें आप किसी भी देश की करेंसी एक्सचेंज करके पैसा कमा सकते है बशर्ते उस देश की करेंसी रेट क्या चल रहा है. जैसे कि आप जानते है भारत में रुपए का रेट डॉलर से कम रहता है तो अगर आप आज डॉलर खरीद कर कुछ समय बाद डॉलर का रेट बढ़ने के बाद बेचते है तो आपको अच्छा मुनाफा होगा. 

फोरेक्स ट्रेडिंग आज के समय में 5.3 ट्रिलियन डॉलर के रोजाना लेन-देन के साथ दुनिया का सबसे बड़ा फाइनैंशल मार्केट बन चूका है.  

क्या आप जानते है फॉरेक्स ट्रेडिंग काम कैसे करती है ?  

आपकी जानकारी के लिए बता दे फॉरेक्स ट्रेडिंग और इक्विटी ट्रेडिंग में कुछ ज्यादा फर्क नहीं है. केवल इक्विटी ट्रेडिंग में कमाई या नुकसान के लिए शेयर का मूल्य निर्णायक भूमिका में होता है। तो वहीँ फ़ॉरेक्स ट्रेडिंग में एक्सचेंज मूल्य निर्णायक भूमिका में होता है। 

अगर किसी व्यक्ति को फॉरेक्स ट्रेडिंग से कमाई करनी है तो वह अपने अनुभव और जानकारी के बलबूते और कोई भी मुद्रा खरीदकर बिज़नस कर सकता है. 

भारत में फोरेक्स ट्रेडिंग लीगल होने के बाद कई तरह के प्लेटफार्म आ चुके है जहाँ पर कोई भी व्यक्ति फोरेक्स ट्रेडिंग कर सकता है और आधिक से आधिक मुनाफा कमा  सकता है जिनमे से MT4 भी एक है. इस पर ट्रेडिंग करना बहुत ही आसान है.    

चलिए, एक उदाहरण से समझते है:-

मन लीजिये, निखिल चाहता है कि बढ़ती हुई डॉलर की कीमतों से कुछ मुनाफ़ा कमाया जाए जिससे कि उसकी अच्छी एक्स्ट्रा इनकम हो जाए. 

फ़िलहाल डॉलर कि कीमत 70 रुपए है और निखिल इस फील्ड की अच्छी जानकारी और अनुभव रखता है तो उसके आधार पर वो अनुमान लगाता है कि आने वाले 3 महीने में डॉलर की कीमत 73 रुपए हो जाएगी. 

ऐसे में निखिल 1000$ खरीद लेता है और 3 महीने बाद जब डॉलर 73 रुपए होता है उन्हें सेल कर देता है. इस तरह निखिल ने 1000$ पर 3000 रुपए तक की कमाई कर ली. 

फोरेक्स में ट्रेडिंग की शुरुआत कैसे करे

पहले भारत में फोरेक्स ट्रेडिंग करना आसान नहीं था लेकिन भारत में फोरेक्स ट्रेडिंग लीगल होने के बाद भारत के लोगो के लिए ट्रेडिंग करना आसान हो गया है. लेकिन अभी भी भारतीय रिज़र्व बैंक ने फोरेक्स ट्रेडिंग करने के लिए काफी शर्ते व नियम लागू किये हुआ है.

चलिए, आपको बताते है कि फोरेक्स ट्रेडिंग कैसे कर सकते है:-

  • अगर आप फोरेक्स ट्रेडिंग करना चाहते है तो इसके लिए सबसे जरुरी है कि सबसे पहले आप किसी SEBI रजिस्टर्ड ब्रोकर के पास ट्रेडिंग अकाउंट ओपन करवा ले. 
  • ध्यान रहे, ट्रेडिंग अकाउंट रजिस्टर्ड ब्रोकर के पास ही खुलवाए.
  • ट्रेडिंग अकाउंट किसी डिस्काउंट ब्रोकर के पास ही खुलवाएं क्यूंकि यहाँ पर चार्जेज काफी कम लगते है. 
  • भारत में करेंसी ट्रेडिंग डेरिवेटिव्स मार्किट यानी फ्यूचर एंड आप्शन में होती है. 
  • NSE करेंसी ट्रेडिंग सोमवार से शनिवार, सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक करवाती है. 
  • ये बात ध्यान रखे कि किसी भी करेंसी का रेट देश में चल रही घटनाओं पर आधारित होता है जैसे ब्याज दर, GDP, महंगाई दर, बेरोज़गारी, राजनैतिक स्थिरता या अन्य कोई आकस्मिक घटना,

निष्कर्ष:

दोस्तों, तो ये थी फोरेक्स में ट्रेडिंग की शुरुआत कैसे करे के बारे में जानकारी. आशा करते है इस आर्टिकल में दी गई जानकारी आपके लिए लाभदायक साबित होगी. और जानकारी लेने के लिए हमारे पेज के साथ जुड़े रहे. 

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve + eighteen =