दिवाली मे पैसा कम, सजावट ज्यादा, कैसे

decoration in less money diwali

दिवाली देश का एक ऐसा त्योहार जिसमे लोगों की व्यस्तता अधिक हो जाती है क्यूंकि इसमें लोग अपने कामों पर अधिक ध्यान देते है। दिवाली एक ऐसा त्योहार है जिसमे सभी त्योहारों से अधिक खरीददारी की जाती है। इसलिए दिवाली पर वस्तुओं की कीमत बढ़ जाती है, और जब वस्तुओं की कीमत बढ़ जाती है तो मध्यम और निम्न वर्ग के लोग अपने घरों को अच्छे से नहीं सजा पाते हैं, खूबसूरत नहीं बना पाते हैं। हम आपको बताएँगे की आप कम पैसों में अपने घर को खूबसूरत कैसेबनाएं।

किन-किन चीजों से सजा सकते है-

कागज की झालर– आपके के पास अगर बाजार से मंहगी झालरों को खरीदने के लिए पैसे नहीं है तो आप घर में पड़े अख़बारों का इस्तेमाल करके रंग बिरंगी झालरें बना सकते, अगर आप के घर में अखबार नहीं है तो आप बाहर से खरीद सकते हैं पुराने अखबार बहुत ही कम पैसों में मिल जाते है, जिससे आप अपना घर सजाकर खूबसूरत बना सकते हैं।

रंगोली- आप रंगोली बनाकर अपने घर को खूबसूरत बना सकते हैं, रंगोलियां भी बाजार में मिलती हैं लेकिन कीमत बहुत अधिक होती है। आपको बाजार से लाने की जरुरत नहीं है आप कई प्रकार के रंग लाकर और फूलों से अपने घर में रंगोली बना सकते हैं जिससे आपका घर खूबसूरत दिखेगा।

फूल-पत्ती- जिस तरह से शादियों में घर को खूबसूरत बनाने के लिए फूलों से सजाया जाता है उसी प्रकार आप दिवाली पर भी अपने घर को खूबसूरत बना सकते हैं

मोमबत्ती- दिवाली पर मोमबत्ती सभी के घरों में आती है क्यूंकि बिना मोमबत्ती लगाए घर की शोभा नहीं बढ़ती है, अगर हम ज्यादा मात्रा में मोमबत्ती लाकर अपने घर के छत पर और घर के सभी जगहों पर लगा दें तो हमारा घर खूबसूरत दिखने लगेगा।

दीपक- कहते हैं की रोशनी खूबसूरती को बढ़ा देती है जिस प्रकार हम मोमबत्ती को ज्यादा मात्रा में लाएंगे उसी तरह हम दियालियों की मात्रा भी बढ़ा दें और घर के सभी कोनो,जगह-जगह पर रख दें। वैसे भी दीपावली पर दियालियों से ही खूबसूरती बनती है इससे हमारा घर भी बहुत खूबसूरत हो जायेगा।

इलेक्ट्रानिक झालर- अगर आप थोड़े पैसे खर्च कर सकते हैं तो आप बाजार से इलेक्ट्रानिक झालरें भी खरीद कर ला सकते हैं और अपने घरों में लगा सकते हैं जिससे आपका घर खूबसूरत दिखने लगेगा। इस प्रकार हम कम पैसों में भी अपने घर को अच्छे से सजाकर खूबसूरत बना सकते हैं।

दीपावली पर क्यों करते माँ लक्ष्मी और गणपति की पूजा