अमित शाह: ममता बनर्जी को सीएए का विरोध पड़ेगा महंगा, जनता बनाएगी राजनीतिक शरणार्थी

hm amit shah talk about article 370
image source - google

गृह मंत्री अमित शाह ने आज वर्चुअल रैली के माध्यम से कार्यकर्ताओं और लोगों को संबोधित किया। इसके साथ ही पश्चिम बंगाल में चुनावी बिगुल फूंका। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर मिश्रा ने जमकर निशाना साधा। ग्रह मंत्री अमित शाह ने कहा की “मैं करोड़ों बंगाल वासियों से कहना चाहता हूं कि आपने कम्युनिस्ट और तृणमूल दोनों पार्टियों को आजमाया है। एक बार भारतीय जनता पार्टी को भी मौका दीजिए। पश्चिम बंगाल में बेरोजगारी, हिंसा, घुसपैठ, परिवारवाद, टोलबाजी, भ्रष्टाचार समाप्त हो जाएगा।

गृह मंत्री का शायराना अंदाज

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए अमित शाह ने कहा कि स्पेशल ट्रेनों को उन्होंने कोरोना एक्सप्रेस नाम दिया। ममता दीदी ने प्रवासी मजदूरों के घावों पर नमक डाला है, वह इसे हमेशा याद रखेंगे। ‌ उत्तर प्रदेश में 1700 और बिहार में 1500 रेलगाड़ियां मिली। मैं चकित था, जब बंगाल आने वाली ट्रेनों को ममता दीदी ने कोरोना एक्सप्रेस कहा।” मालूम हो पूरे देश में सबसे कम ट्रेनें पश्चिम बंगाल सरकार ने मांगी थी।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा की ममता बनर्जी को नागरिकता संशोधन कानून का विरोध महंगा पड़ेगा। जब मतपेटी खुलेगी तो जनता आपको राजनीतिक शरणार्थी बना देगी। शायराना अंदाज में गृह मंत्री अमित शाह ने दुष्यंत कुमार की कविता पढ़कर कहा की हो गई है पीर पर्वत सी पिघलनी चाहिए, इस हिमालय से कोई गंगा निकलनी चाहिए, सिर्फ हंगामा खड़ा करना मेरा मकसद नहीं, सारी कोशिश है कि ये सूरत बदलनी चाहिए।

इस वर्चुअल रैली में गृहमंत्री अमित शाह ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के प्रथम वर्ष पूर्ण होने की उपलब्धियां पश्चिम बंगाल के लोगों और कार्यकर्ताओं को बताई। इसके साथ ही कार्यकर्ताओं पर हुए हमले का भी जिक्र किया और अम्फान तूफान से जान गवाने वाले लोगों को श्रद्धांजलि दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here