Digital Health ID Card: क्या है और कैसे करें Registration-Login

Digital-Health-ID-Card

भारत ने Health ID card की सुविधा देनी शुरू कर दी है। पीएम मोदी ने डिजिटल भारत की ओर कई कदम बढ़ाए हैं। सरकार स्वास्थ्य क्षेत्र को भी डिजिटल करने की पूरी तरह से कोशिश में लगी हुई है।

इसके लिए सरकार ने आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन का शुभारंभ किया है। इस मिशन के अंतर्गत प्रदेश के नागरिकों का डाटाबेस तैयार किया जा गया है। इससे प्रदेश के नागरिक अपना इलाज करवा पाएंगे। सरकार ने Health ID Card में कई तरह की सुविधा देने की शुरुआत की है। आइये आपको इससे जुडी कुछ अहम जानकारियां देते हैं जैसे कि इसकी विशेषताएं, सुविधा, उद्देश्य, इससे जुड़े डाक्यूमेंट्स, अप्लाई करने का तरीका आदि।

क्या है Health ID Card

Health ID Card – पीएम मोदी द्वारा 15 अगस्त 2020 में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन लांच करने की घोषणा की गई थी। जिसके बाद देश के 6 केंद्र शासित प्रदेशों में मिशन मोड में इसे शुरू किया गया था। 27 सितंबर 2021 को इस योजना का पूरे देश के लिए उपलब्ध करा दिया गया। इस योजना के माध्यम से देश के नागरिकों का स्वास्थ्य रिकॉर्ड का डाटाबेस तैयार किया जा रहा है। इस तरह नागरिकों को एक Health ID Card दिया जाएगा।

इस Health ID Card में नागरिकों का हेल्थ डाटाबेस स्टोर होगा। डाटाबेस को नागरिकों की सहमती के बाद ही डॉक्टर देख सकते हैं। डाटाबेस में नागरिकों के स्वास्थ्य से जुड़े सभी महत्वपूर्ण जानकारियां जैसे कि परामर्श, रिपोर्ट आदि डिजिटली रखी जाएंगी। इसकी मदद से सभी अस्पतालों और डॉक्टरों की जानकारी स्टोर की जाएगी। देश के नागरिक देश के किसी भी डॉक्टर से घर बैठे परामर्श भी प्राप्त कर सकेंगे।

Health ID Card (आयुष्मान कार्ड) के लिए कैसे करें अप्लाई

“health id card registration” आयुष्मान भारत हेल्थ खाता खोलने के लिए आपको कहीं जाने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी। आप घर बैठे आराम से आरोग्य सेतु एप का उपयोग करके आयुष्मान भारत स्वास्थ्य खाता बना सकते हैं। इसके साथ ही आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की नोडल एजेंसी राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने दोनों के इंटीग्रेशन का ऐलान किया। लगभग 21.4 करोड़ यूज़र आरोग्य सेतु एप पर एक्टिव हैं जो अपना आयुष्मान भारत हेल्थ अकाउंट नंबर जनरेट कर सकेंगे। यह नंबर 14 अंको का होगा। उपयोगकर्ता अपने पुराने और नए मेडिकल रिकॉर्ड को इस नंबर से लिंक कर सकते हैं। यह सभी रिकॉर्ड रजिस्टर्ड हेल्थ प्रोफेशनल और हेल्थ सर्विस प्रोवाइडर के साथ शेयर किए जाएंगे। जिसमें लोगों की स्वास्थय हिस्ट्री मिल जाती है।

अकाउंट खोलने के लिए आपको रजिस्ट्रेशन के समय अपना आधार नंबर का ऑथेंटिकेशन कर सकता है। इससे आपका नाम, जन्मतिथि, लिंग व पता जैसी जानकारी मिल जाएगी। अगर आप आधार के जरिए आयुष्मान भारत हेल्थ अकाउंट नहीं बनवाते हैं तो आप ड्राइविंग लाइसेंस या मोबाइल नंबर का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस अकाउंट में डॉक्टर के प्रिसक्रिप्शन, लैब रिपोर्ट, हॉस्पिटल रिकॉर्ड जैसी जानकारियां रखी जा सकती है।

digital health id card online registration के माध्यम से आपकी हेल्थ हिस्ट्री को कहीं से भी निकाला जा सकता है। कभी डॉक्टर के पास जाने पर अगर आपको अपनी हेल्थ हिस्ट्री दिखाने की ज़रूरत पड़े तो मात्र आपको अपनी Health ID Card का 14 डिजिट का नंबर बताना होगा। जिससे डॉक्टर आपकी पूरी स्वास्थय जानकारी आसानी से समझ सकेगा। इस कार्ड की जानकारी के लिए OTP दी जाएगी जिसकी मदद से मेडिकल जानकारी देखी जा सकेगी लेकिन सिर्फ आपकी अनुमति से ही।

आप अपने आयुष्मान भारत हेल्थ अकाउंट कार्ड को डाउनलोड भी कर सकते हैं। इस कार्ड में एक क्यूआर कोड होता है जिसे स्कैन करके ओटीपी वेरीफिकेशन करने के बाद सारा रिकॉर्ड देखा जा सकता है। इसके अलावा इस कार्ड ने डेमोग्राफिक लोकेशन, फैमिली समेत कई अन्य जानकारियां भी शामिल हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 29 सितंबर 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन कार्यक्रम की समीक्षा की। यह कार्यक्रम सभी नागरिकों तक डिजिटल Health ID Card प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू किया गया है। National health authority द्वारा आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की तीसरी वर्षगांठ के अवसर पर डिजिटल Health ID Card का राष्ट्रीय व्यापी रोल आउट किया गया है।

इस योजना की शुरुआत 15 अगस्त 2020 को शुरू किया गया था, इस कार्यक्रम को 6 केंद्र शासित प्रदेशों में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में संचालित किया जा रहा है। अब तक इस योजना के अंतर्गत एक लाख से अधिक Health ID Card बन चुकी है।

आयुष्मान डिजिटल भारत की सेवा

  • आयुष्मान डिजिटल भारत मिशन की मदद से नागरिकों को Health ID Card दिया जाएगा। इस कार्ड से आपकी सारी स्वस्थ्य जानकारी चिकत्सक तक आसानी से पहुंच जाएगी।
  • आयुष्मान डिजिटल भारत मिशन से देश में सभी चिकत्सकों की जानकारी भी रहेगी जिससे डॉक्टरों को भारत के डिजिटल काम करने से जोड़ा जा सके।
  • आयुष्मान डिजिटल भारत मिशन में भारत के विभिन्न अस्पतालों, क्लिनिको, प्रयोगशालाओं, इमेजिन केंद्रों, फार्मेसी आदि को पंजीकृत किया जाएगा। इससे सभी इस डिजिटल हेल्थ इको सिस्टम से जुड़ेंगे।

Health ID Card के फायदे

  1. आयुष्मान डिजिटल भारत योजना को पहले चरण में 6 केंद्र शासित अंडमान निकोबार, पुडुचेरी, दादर एंड नगर हवेली दमन एंड दिउ, लक्षदीप, लद्दाख एवं चंडीगढ़ प्रदेशों में संचालित किया गया था।
  2. यह कार्ड नागरिकों के सभी तरह की पुरानी स्वस्थ समस्या की जानकारी रखता है जिससे अगर व्यक्ति ने अपनी रिपोर्ट खो दी हो तब अभी उनका रिकॉर्ड इस कार्ड में रहेगी।
  3. Health ID Card में कजो भी जानकारियां स्टोर किया गया है वह डाटा पूरी तरह से गोपनीय होगा।
  4. सभी डॉक्टरों और चिकत्सालय की जानकारी भी इससे मिल जाती है।
  5. गरीब व मध्यम वर्ग के इलाज में होने वाली दिक्कतों को भी इस योजना के माध्यम से दूर किया जा सकेगा।
  6. पिछड़े इलाकों में रहने वाले नागरिक भी Health ID Card की मदद से अच्छे से अच्छे डॉक्टर से घर बैठे ट्रीटमेंट प्राप्त कर सकेंगे।
  7. इमरजेंसी की स्थिति में यह योजना बहुत कारगर साबित होगी।

आयुष्मान डिजिटल भारत मिशन का लक्ष्य

  1. आधुनिक डिजिटल स्वास्थ्य प्रणाली स्थापित करना।
  2. स्वास्थ्य रिकॉर्ड के आदान-प्रदान के लिए आवश्यक बुनियादी ढांचा विकसित करना।
  3. आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के साथ एकीकरण सुनिश्चित करके मौजूदा स्वास्थ्य सूचना प्रणाली को मजबूत बनाना।
  4. स्वास्थ्य देखभाल की गुणवत्ता सुनिश्चित करना।
  5. स्वास्थ्य विभाग का बेहतर प्रबंधन, जिससे कि स्वास्थ्य डाटा का विश्लेषण और चिकित्सा अनुसंधान किया जाए।
  6. नैदानिक निर्णय समर्थन प्रणालियों का उपयोग को बढ़ावा देना।
  7. स्वास्थ्य सेवाओं के प्रावधान में नेशनल पोटेबिलिटी सुनिश्चित करना।
  8. निजी क्षेत्र के स्वास्थ्य देखभाल संस्था एवं पेशेवर आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के निर्माण में सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ सक्रिय रूप से भाग ले।
  9. सभी उम्र के नागरिकों के लिए स्वास्थ्य एवं कल्याण के उच्चतम संभव स्तर की प्राप्ति विभिन्न प्रकार की स्वास्थ्य एवं देखभाल सुविधाओं के माध्यम से करना।
  10. सभी राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य धारकों द्वारा मानकों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना।
  11. अंतरराष्ट्रीय मानकों के आधार पर व्यक्तिगत स्वास्थ्य रिकॉर्ड की एक प्रणाली बनाना जिससे कि स्वास्थ्य पेशावरो एवं सेवा प्रदाताओं को मरीज से संबंधित जानकारी प्राप्त हो सके।

One Nation One Health Card की अहम बातें

Health ID Card डिजिटल तरीके से व्यक्ति की हेल्थ की जानकारी पूरी तरह के सुरक्षित रखता है। कार्ड की मदद से डॉक्टर किसी भी मरीज का हेल्थ स्टेटस जान सकेगा वो भी मरीज की अनुमति से जिससे वो उसी डॉक्टर से इलाज करा पाए जिससे वो चाहते हैं और डॉक्टरों को भी पूरी स्वास्थ समस्या समझने में आसानी होगी। One Nation One Health Card में सरकार की भी पूरी भागीदारी होती है। इसके अलावा और भी अलग अलग क्रम में मौजूद रहते है। यह क्रम नीचे दिया है:-

  1. सेंट्रल गवर्नमेंट
  2. स्टेट गवर्मेंट
  3. प्रोग्राम मैनेजर
  4. रेगुलेटर
  5. एसोसिएशन
  6. डेवलपमेंट पार्टनर्स/एनजीओस
  7. नॉन-प्रॉफिट ऑर्गेनाइजेशन
  8. एडमिनिस्ट्रेटर
  9. हेल्थ केयर प्रोफेशनल
  10. अदर प्रैक्टिशनर्स
  11. डॉक्टर्स
  12. हेल्थ टेक कंपनी
  13. टीपी ए इंस्यूरर्स
  14. लैब्स, फार्मेसी, वैलनेस सेंटर
  15. हॉस्पिटल क्लीनिक
  16. पॉलिसी मेकर
  17. प्रोवाइडर
  18. एलाइट प्राइवेट एंटिटी
  19. हेल्थ केयर प्रोफेशनल

Health ID Card की आवेदन प्रक्रिया

  1. सबसे पहले आप नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाइये
  2. आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  3. होम पेज पर आप क्रिएट हेल्थ आईडी के लिंक पर क्लिक करें
  4. अब आपके सामने एक और नया पेज खुलकर आएगा
  5. इसपर आप क्रिएट योर हेल्थ आईडी नाउ के लिंक पर क्लिक करिये
  6. अब अगर आप आधार कार्ड के जरिए हेल्थ आईडी जनरेट करना चाहते हैं तो आपको जनरेट वाया आधार कार्ड के लिंक पर क्लिक करें
  7. आधार कार्ड सिलेक्ट करने के बाद आपको अपना आधार नंबर भरना होगा
  8. यदि आप मोबाइल नंबर के जरिए हेल्थ आईडी जनरेट करना चाहते हैं तो आपको जनरेट वाया मोबाइल लिंक पर क्लिक करना होगा
  9. अब अपने मोबाइल नंबर सेलेक्ट कर आपको अपना मोबाइल नंबर भरना होगा
  10. अब आपके फोन पर ओटीपी आएगा, आपको यह ओटीपी, ओटीपी बॉक्स में भरना होगा
  11. इसके बाद आपके सामने फॉर्म खुलकर आएगा जिसमें पूछी गई जानकारी ध्यान पूर्वक भरें
  12. अब आप सबमिट के बटन पर क्लिक करें
  13. सबमिट के बटन पर क्लिक करने के बाद आपकी हेल्थ आईडी जनरेट हो जाएगी

ऐसे Health ID Card से login करें

  • नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको क्रिएट हेल्थ आईडी के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आप लॉगिन के बटन पर क्लिक करें।
  • आपके सामने लॉगइन पेज खुलेगा जिसमें आपको अपना हेल्थ आईडी नंबर दर्ज करना होगा।
  • आपके पास एक OTP आएगा जिसे ओटीपी बॉक्स में दर्ज करें।
  • आपकी लॉगिन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

इस आर्टिकल में :- health id card registration, digital health id card registration, health id card online registration, health id card registration online, health id card registration in west bengal इत्यादि

Read also :-

Nikshay Aushadhi Yojna क्या है और कैसे करता है काम?

पीएम किसान सम्मान निधि योजना क्या है? । PM Kisan Samman Nidhi Yojna Registration

e-shram card: कैसे करें Registration | कब और कितना आएगा पैसा?

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen + 14 =