कांवड़ यात्रा: अब तक इतने हजार लोगों को भेजा गया वापस

haridwar hindi news
image source - google

kawad yatra 2021: कोरोना की तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए इस बार कांवड़ यात्रा पर रोक लगा दी गयी थी और सीमाओं को सील कर दिया गया था। लेकिन इसके बाद भी लोग भारी संख्या में हरिद्वार पहुंच रहे है।

पुलिस उप महानिरीक्षक नीलेश आनंद भरणे ने बताया कि कांवड़ मेला प्रतिबंधित होने के बावजूद सड़क एवं ट्रेन से हरिद्वार पहुंचे कांवड़ यात्रियों को जनपद सीमा, शटल बस और ट्रेनों में बैठाकर वापस भेजा जा रहा है।

कल तक हरिद्वार पुलिस ने नारसन, भगवानपुर और खानुपुर बॉर्डर से लगभग 1,174 दुपहिया वाहन, 3,473 छोटे वाहन और 136 बड़े वाहनों सहित कुल 3,635 कांवड़ियों को वापस भेजा गया। साथ ही ट्रेनों से आए कुल 316 कांवड़ यात्रियों को शटल बस व ट्रेनों से वापस भेजा गया।

International Tiger Day: जाने 2006 से 2021 के बीच में कितनी बढ़ी बाघों की संख्या

देश में इस समय कोरोना के मामले प्रतिदिन 38 हजार से 42 हजार के बीच में आ रहे है और एक्सपर्ट के मुताबिक अब 5 महीने में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है। इससे पहले हुए दो सम्पूर्ण लॉक डाउन और गंभीर परिस्थिती से सबब लेते हुए कोई भी सरकार रिस्क नहीं लेना चाहती है। इसलिए भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से लोगों को रोकने का प्रयास किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here