50 से ज्यादा चाकुओं के निशान बयान कर रहे हैवानियत की दास्तान

Source - Google

दिल्ली में रह रही ठाकुरद्वारा निवासी लड़की को हरियाणा ले जाकर चाकुओं के गोदकर निर्मम हत्या किए जाने का मामला सामने आया है। मृतका के परिजनों ने इसे गैंगरेप के बाद हत्या किया जाना बताते हूऐ आरोपियों को फाँसी दिए जाने की माँग की है।वहीँ घटना के बाद एक आरोपी ने ख़ुद को पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया,लेकिन उसके द्वारा बतायी जा रही कहानी को मृतका के परिजन सरा-सर झूठा बताते हुए पुलिस को गुमराह करने का आरोप लगा रहे हैं।

उधर सोशल मीडिया पर तमाम लोग ठाकुरद्वारा की बेटी को न्याय दिए जाने की माँग कर रहे हैं। जानकारी के मुताबिक़ दिल्ली के संगम बिहार इलाक़े में रह रहे ठाकुरद्वारा के ग्राम बंकावाला निवासी परिवार की बेटी सिविल डिफेंस में नौकरी करती थी। रोज़ की तरह 27 अगस्त को भी ड्यूटी पर गयी थी लेकिन देर रात होने पर भी बेटी के घर न लौटने पर परिजनों की बेचैनी बढ़ने लगी और परिजनों ने बेटी की तलाश शुरू कर दी। तलाश कर रहे परिजन बेटी की गुमशुदगी की जानकारी देने नज़दीकी थाने भी पँहुचे। काफी खोजबीन के बाद पुलिस ने परिजनों को बताया कि लड़की के साथ मे ही नौकरी करने वाले निज़ामुद्दीन ने उसका क़त्ल कर दिया है। जिसे सुनकर परिजनों के होश उड़ गए। उधर आरोपी लगातार पुलिस को गुमराह कर रहा है।

परिजनों का आरोप है वह अपने साथियों से हमसाज़ होकर पुलिस को ग़लत जानकारी दे रहा है। मृतका के परिजनों ने मामले की निष्पक्ष जाँच करते हुऐ आरोपियों को फाँसी दिए जाने की माँग की है। मृतका के शव को जिसने भी देखा उसका दिल दहल गया। हत्यारोपी हैवान ने मृतका के जिस्म पर एक के बाद एक लगभग 50 से अधिक बार चाकुओं से गोदकर मौत के घाट उतारा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here