भारत चीन सीमा विवाद पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की केंद्र सरकार को नसीहत

Former Prime Minister Manmohan Singh
image source - google

इन दिनों विपक्ष केंद्र सरकार को भारत चीन सीमा विवाद को लेकर घेर रहा है लगातार कांग्रेस पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों पीएम मोदी से एक के बाद एक सवाल पूछ रहे हैं। अब पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भी केंद्र सरकार को नसीहत दी है।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि “हम केंद्र सरकार को आगाह करेंगे कि भ्रामक प्रचार कभी भी कूटनीति तथा मजबूत नेतृत्व का विकल्प नहीं हो सकता। साथ ही पिछलग्गू सहयोगियों द्वारा प्रचारित झूठ के आडंबर से सच्चाई को नहीं दबाया जा सकता। पीएम को अपने शब्दों व एलानो द्वारा देश की सुरक्षा एवं सामरिक व भूभागिय हितों पर पड़ने वाले प्रभाव के प्रति सदैव बेहद सावधान होना चाहिए।”

इसके साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने कहा कि यही सही समय है जब पूरे राष्ट्र को एकजुट और संगठित होकर इस दुस्साहस का जवाब देना चाहिए। हम प्रधान मंत्री और सरकार का आवाहन करते हैं कि वह इस मौके पर साथ आए और कर्नल आशुतोष व हमारे शहीद जवानों के लिए न्याय सुनिश्चित करें।

मालूम हो 15 जून को लद्दाख के गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों और चीन सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी जिसमें चीन के 11 सैनिक घायल हुए थे और 5 मारे गए थे। लेकिन इस झड़प में भारत के 20 सैनिक शहीद हुए थे। उसके बाद से ही विपक्ष केंद्र पर हमलावर है। फिर इस मामले को लेकर एक सर्वदलीय बैठक हुई थी। जिसमें पीएम मोदी ने कहा था कि हमारी सीमा में ना कोई घुसा है और ना ही किसी ने हमारी पोस्ट पर कब्जा किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here