UPPCL घोटाले के मालमे में कंपनी के पूर्व एमडी गिरफ्तार

google

उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (UPPCL) घोटाले के मामले में कंपनी के पूर्व एमडी अयोध्या प्रसाद उर्फ एपी मिश्रा को उत्तर प्रदेश पुलिस की विशेष टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। यूपीपीसीएल के 45000 कर्मचारियों के करीब 1600 करोड़ रुपये का भविष्य निधि घोटाला हुआ था। अयोध्या प्रसाद मिश्रा अखिलेश यादव काफी करीबी थे और समाजवादी पार्टी की सरकार में उनको तीन बार सेवा विस्तार दिया गया था। लेकिन योगी सरकार बनने के बाद से भ्रष्टाचार के बहुत से मामलों का खुलासा हुआ जिसके कारण एमडी को पद छोड़ना पड़ा।

उत्तर प्रदेश की पुलिस की टीम अयोध्या प्रसाद मिश्रा पर अलीगंज और गोमतीनगर वाले आवास तथा दफ़्तर पर नज़र रख रही थी। सोमवार देर रात को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपीपीसीएल की मौजूदा एमडी तथा सचिव ऊर्जा अपर्णा यू का तबादला कर दिया था। अपर्णा यू उत्तर प्रदेश जल विद्युत उत्पादन कारपोरेशन की भी एमडी थी। अब आईएएस एम देवराज को इन दोनों जगहों का नया एमडी बनाया गया है। अपर्णा यू को फिलहाल सिंचाई एवं जल संसाधन का सचिव बना दिया गया है।

उत्तर प्रदेश पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड के चेयरमैन और ऊर्जा विभाग के प्रमुख सचिव आलोक कुमार को भी जल्दी ही हटाया जा सकता है। आलोक कुमार ट्रस्ट के चेयरमैन हैं। यूपीपीसीएल कंपनी ने अपने कर्मचारियों का पीएफ एक निजी कंपनी डीएचएफएल में जमा करवाया था जो 2600 करोड़ से अधिक था हालांकि 1000 करोड़ वापस प्राप्त किया जा चुका है।