बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा का निधन

सोमवार को बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा जी का देहांत हो गया। पिछले काफी दिनों से वो बीमार चल रहे थे। और उनका इलाज दिल्ली के अस्पताल में किया जा रहा था। उनके देहांत के बाद राजनीति के गलियारों में शोक की लहर दौड़ गई।

जगन्नाथ मिश्रा का सियासी सफर

जगन्नाथ जी की राजनीति में अच्छी पकड़ थी। वह सियासी दाव पेंच बखूबी जानते थे और 3 बार बिहार के सीएम बने थे| पहली बार वह 1975 में बिहार के मुख्यमंत्री बने, 1980 में दुबारा मुख्यमंत्री की गद्दी संभाली तथा तीसरी बार वह 1989 से 1990 तक बिहार के सीएम रहें। 90 के दशक में वो केंद्रीय कैबिनेट मंत्री भी बने| राजनीति में कदम रखने से पहले वो बिहार यूनिवर्सिटी में टीचर थे| बिहार यूनिवर्सिटी में वह 3 बार अर्थशास्त्र के प्रोफेसर रह चुके है, और करीब 40 रिसर्च पेपर तैयार किये थे। 

जगन्नाथ मिश्रा जी 950 करोड़ रुपय के चारा घोटाले में फसे थे| उनके साथ लालू प्रसाद भी इसमें फ़सेँ जोकि जेल में है। लेकिन मिश्रा जी को इससे बरी कर दिया गया था| 30 सितम्बर 2013 रांची की विशेष कोर्ट ने उन्हें 44 अन्य लोगों के साथ सजा सुनाई थी और 2 लाख रूपए का जुर्माना भी लगाया था। यह घोटाला 1996 में सामने आया था। जगन्नाथ जी कांग्रेस पार्टी से राजनीति में आये| कांग्रेस छोड़ने के बाद वह राष्ट्रवादी कांग्रेस में जुड़े, और फिर जनता दल में शामिल हो गए।

पत्नी द्वारा सोशल मीडिया पर गंभीर आरोप लगाने के बाद तलाक के लिए कोर्ट पहुंचे योगी के मंत्री

सोशल मीडिया पर लोगों ने किया शोक प्रकट 

पूर्व मुख्यमंत्री के देहांत के बाद बहुत से लोगों ने दुःख प्रकट किया है| सीएम नितीश कुमार ने जगन्नाथ जी के निधन पर कहा कि बिहार की राजनीति के लिए ये बहुत बड़ी क्षति है| वही उन्होंने बिहार में 3 दिनों के राजकीय शोक का एलान कर दिया है| उन्होंने कहा कि मिश्रा जी ने बिहार के विकास के लिए बहुत काम किया है|

बीजेपी के वरिष्ठ नेता गिरिराज सिंह ने ट्वीट करके कहा कि बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री श्री जगन्नाथ मिश्रा जी का निधन हो गया है ,प्रभु उनकी आत्मा को शांति दे। तेजस्वी यादव ने भी शोक जताते हुए कहा कि ” बिहार के पूर्व सीएम के निधन पर शोक व्यक्त करता हु, भगवान् उनकी आत्मा को शांति दे। “