कस्टडी में अधेड़ की मौत पर अमेठी पुलिस के खिलाफ दर्ज हुई FIR

  • क्राइम ब्रांच प्रभारी, पीपरपुर थाने की पुलिस सहित 15 पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज
  • सुलतानपुर के एसपी हिमांशु कुमार के आदेश पर दर्ज किया गया है यह मुकदमा

उत्तर प्रदेश के अमेठी में पुलिस कस्टडी में एक 45 वर्षीय अधेड़ व्यक्ति सत्यप्रकाश शुक्ला की मौत हो गई थी। अधेड़ की मौत के मामले में अमेठी पुलिस तथा क्राइम ब्रांच पर मुकदमा दर्ज हुआ है। सुलतानपुर के एसपी हिमांशु कुमार के आदेश पर यह मुकदमा दर्ज किया गया है। कोतवाली नगर में धारा 302, 392, 452, 504 आईपीसी के तहत क्राइम ब्रांच प्रभारी, पीपरपुर थाने की पुलिस सहित 15 पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा लिखा गया है।

अमेठी पुलिस तथा क्राइम ब्रांच के खिलाफ एफआईआर लिखे जाने के बाद मृतक के घर वाले शव का पोस्टमार्टम कराने के लिये तैयार हुए और परिजनों की मांग पर ही सुलतानपुर के एसपी ने FIR दर्ज करने का दिया आदेश दिया। सुल्तानपुर जिले के अस्पताल का परिसर पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। पुलिस ने 26 लाख की बैंक लूट के मामले में पूछताछ करने के लिए सत्यप्रकाश शुक्ला को कस्टडी में लिया था।

पूर्व मुख्यमंत्री तथा समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी इस प्रकरण में ट्वीट करते हुए कहा है कि “अमेठी में पुलिस-हिरासत में हुई स्व. सत्य प्रकाश शुक्ला की मौत से उपजे जनाक्रोश को भाजपा सरकार झूठी दलीलें देकर दबाना चाह रही है। परिजनों ने थर्ड डिग्री की प्रताड़ना का जो आरोप लगाया है उसकी निष्पक्ष जाँच होनी चाहिए नहीं तो भाजपा सरकार से जनता का रहा-सहा भरोसा भी उठ जाएगा”।