फेसबुक पोस्ट पर गरमाई देश की सियासत, जानिए क्या है पूरा मामला

facebook post war bjp and congress
image source - google

भारत में इस समय Facebook पोस्ट को लेकर राजनीति गरमाई हुई है। 16 अगस्त को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंने अमेरिका के एक अखबार की खबर को साझा करते हुए कहा कि ‘BJP-RSS भारत में फेसबुक और व्हाट्सएप का नियंत्रण करती हैं। इस माध्यम से यह झूठी खबरें व नफरत फैलाकर वोटरों को फुसलाते हैं। आखिरकार अमेरिकी मीडिया ने फेसबुक का सच सामने ला दिया है।

इसके बाद केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए कहा कि अपनी खुद की पार्टी में लोगों को प्रभावित नहीं कर सकने वाले लूजर इस बात का हवाला देते रहते हैं कि पूरी दुनिया भाजपा और आरएसएस द्वारा नियंत्रित की जा रही है।

सत्य यह है कि आज सूचना और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है। यह अब आपके परिवार द्वारा नियंत्रित नहीं किया जाता और इसलिए आपको दुख होता है। आपने बेंगलुरु हिंसा की निंदा नहीं कि आपकी हिम्मत कहां गई,?

विवाद इतना बढ़ा कि फेसबुक को देनी पड़ी सफाई

अपने ऊपर लग रहे आरोपों पर Facebook ने सफाई देते हुए कहा कि हम ऐसी Post पर पाबंदी लगाते हैं जो हिंसा भड़काने वाली होती हैं और यह किसी एक देश के लिए नहीं बल्कि वैश्विक स्तर पर है। हम यह नहीं देखते कि जिसने पोस्ट की है वह किस राजनीतिक पार्टी से है या किसी उच्च पद पर है। यदि पोस्ट भड़काऊ है तो हम उस पर पाबंदी लगाते हैं हालांकि हमें पता है इसे रोकने के लिए अभी और काम करने की आवश्यकता है। इसलिए हम इस पर लगातार काम कर रहे हैं।

अमेरिकी अखबार के इस रिपोर्ट से बढ़ा विवाद

दरअसल अमेरिकी अखबार में एक खबर छपी थी। जिसमें Facebook के कर्मचारियों का हवाला देते हुए कहा गया था कि ‘फेसबुक भारत में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के भड़काऊ पोस्ट के मामले में कार्यवाही नहीं करता है। तेलंगाना से बीजेपी नेता टी राजा सिंह की पोस्ट का विरोध किया था। लेकिन कंपनी के भारत में उच्च पदों पर बैठे अधिकारियों ने इस पर कोई कार्यवाही नहीं की।’ अमेरिकी अखबार की ऐसी खबर को कांग्रेस के राहुल गांधी में ट्वीट किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here