डोनाल्ड ट्रंप ने भारत-चीन सीमा विवाद पर मध्यस्थता करने को कहा

india china border dispute
image source - google

कोरोना संकट के बीच इस समय भारत और चीन के बीच सीमा को लेकर विवाद चल रहा है। इस पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मध्यस्था करने की बात कही है। व्हाइट हाउस में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ट्रंप ने कहा कि “हम देख रहे हैं कि भारत और चीन के बीच एक बड़ा टकराव चल रहा है। दो देश जिनकी आबादी 1.4 अरब है और जिनकी सेना बहुत शक्तिशाली है। सीमा विवाद को लेकर भारत खुश नहीं है और शायद चीन भी नहीं। मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की है वह चीन के साथ जो स्थिति बनी हुई है, उसे लेकर अच्छे मूड में नहीं है।

ट्रंप की बात को विदेश मंत्रालय ने किया खारिज

ट्रंप ने कहा था कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की है और उनका मूड अच्छा नहीं है। लेकिन उसको लेकर जब विदेश मंत्रालय से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पीएम मोदी की और अमेरिकी राष्ट्रपति की अभी कोई बात नहीं हुई है। दोनों लोगों की आखिरी बात 4 अप्रैल 2020 को हुई थी और वह भी हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन दवा को लेकर।

ट्रंप ने यह भी कहा कि यदि भारत को लगता है कि मैं मध्यस्थता या मध्यस्थ बन सकता हूं तो मैं ऐसा करूंगा। मालूम हो इससे पहले भी डोनल ट्रंप कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता करने का प्रस्ताव रख चुके हैं। लेकिन भारत ने इस प्रस्ताव को यह कहकर अस्वीकार कर दिया था कि यह दो देशों का मुद्दा है। हम इसे समझा लेंगे।

चीन के बराबर सैनिक सीमा पर तैनात

बता दें इस समय भारत और चीन के बीच सीमा को लेकर विवाद चल रहा है। कुछ दिनों पहले भारतीय सीमा के पास चीनी हेलीकॉप्टर उड़ते देखा गया था। जिसके बाद भारत ने गस्त पर लड़ाकू विमान को भेजा और उसके कुछ दिनों बाद ही सीमा पर चीन के सैनिक पत्थर और डंडे लेकर खड़े नजर आए। तभी से दोनों देशों के बीच काफी तनाव बढ़ गया है और भारत ने चीन के बराबर सैनिक सीमा पर तैनात कर दिए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here