3 दिन बाद दिल्ली में हालात सामान्य, सुरक्षा का जिम्मा NSA को

delhi violence

दिल्ली में 3 दिन बाद आज बुधवार को हालात सामान्य हुए है पर जो नुकसान हुआ उसकी भरपाई कोई नहीं कर सकता। दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में हुई हिंसा में 18 लोगो ने अपनी जान गवा दी है और करोड़ों रूपए की संपत्ति को नुकसान हुआ है। आतंकवादी दंगाईयों ने खुले आम फायरिंग की और पुलिस पर पथराव किया। यही नहीं इन आतंकियों ने पुलिस के ऊपर तेजाब से भी हमला किया। जिसमे कुछ पुलिस वाले घायल हो गए।

अजीत डोभाल ने संभाला मोर्चा

दिल्ली में हो रही हिंसा को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने कल बैठक बुलाई इस बैठक में दिल्ली पुलिस कमिश्नर,विधायक,सीएम केजरीवाल आदि मौजूद रहे। बैठक होने के बाद पुलिस को आदेश दे दिया गया है की दंगा करने वालों को सीधा गोली मार दी जाये और बड़े-बड़े मिशन को अंजाम देने वाले NSA अजीत डोभाल को दिल्ली में हिंसा को नियंत्रित करने की जिम्मेदारी दी गयी है। कल अजीत डोभाल ने उन क्षेत्रों का दौरा भी किया जहाँ हिंसा हुई थी और आज NSA कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्योरिटी की बैठक लेंगे व अब इस तरह के हिंसक प्रदर्शन न हो इसके लिए योजना बनायीं जाएगी।

दिल्ली में CAA का विरोध प्रदर्शन हुआ हिंसक,घर,दुकान और गाड़ी जलाई गयी

रास्तों को कराया गया खाली

कल देर रात से हालात सामान्य होने लगे थे और मार्गो पर बैठे प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने हटा दिया है। जिसके बाद आज बुधवार को सभी बंद किये गए मेट्रो स्टेशन को चालू कर दिया गया है। वहीँ मौजपुर,सीलमपुर आदि में आवाजाही शुरू हो गयी है व सामान्य दिन की तरह दुकान भी खुलना शुरू हो गयी है पर आज भी कुछ इलाकों में रुक रुक कर पथरबाजी होने की बात सामने आयी है। जैसे नूर-ए-इलाही,मंगलपुरी,करावल नगर इन इलाकों में भी पुलिस को तैनात कर दिया गया है व हिंसा होने वाले इलाकों में घोषणा कर दी गयी है की मौहोल ख़राब करने की कोशिश न करे,क्योंकि ऐसे लोगों को गोली मारने के आदेश है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here