न्यायालय सिविल जज ऑर्डर को जिला प्रशासन दिखा रहा है ठेंगा

google

उत्तर प्रदेश में लगातार हत्याएं और अवैध कब्जों के मामले आए दिन सामने आ रहे हैं। जिससे यह साबित होता है कि उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। क्योकि योगी सरकार में पीड़ित की सुनवाई नहीं हो रही है। न्यायालय सिविल जज ऑर्डर को जिला प्रशासन ठेंगा दिखा रहा है।

शिकायत के बावजूद भी नहीं हुई सुनवाई 

आपको बता दे की यह उत्तर प्रदेश के जनपद शाहजहांपुर के थाना कांठ क्षेत्र का है। जहां एक पीड़ित व्यक्ति की हाईवे के किनारे करोड़ों रुपए की जमीन पड़ी हुई है। जो कि गाटा संख्या 578/579 की जमीन कोर्ट में विचारधीन है। पीड़ित कहना की उस पर उसने स्टे आर्डर भी किया है। लेकिन उसके बावजूद भी दबंगों द्वारा अवैध निर्माण कार्य किया जा रहा है।जिसकी लिखित शिकायत डीएम् एसपी से करनें के बावजूद भी निर्माण कार्य नहीं रुक रहा है।

विरोध करने पर की मारपीट 

अब इससे यह साफ़ जाहिर होता है कि कहीं ना कहीं जिला प्रशासन उक्त अवैध कब्जे धारियों से मिला हुआ है। क्योकि पीड़ित द्वारा हस्तक्षेप करनें पर पीड़ित के वकील बेटे पर पुलिस ने हाथापाई शुरु कर दी जिसका सीसीटीवी फुटेज में मारपीट का वीडियो कैद हो गया है। जिससे साफ जाहिर होता है कि पुलिस और प्रशासन किस कदर भू माफियाओं से मिला हुआ है।

यूपी में सरेआम बच्चियों से छेड़छाड़ की घटनाएं हो गई आमबात

पीड़ित ने आत्महत्या करने की दी धमकी 

जिस कारण उक्त स्टे आर्डर होने के बावजूद भी उस पर कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। जहां पीड़ित परिवार दर दर की ठोकरें खा रहा है और उसकी कोई भी सुनवाई नहीं हो रही है।इस कारण हतास होकर पीड़ित परिवार आत्म हत्या करने के लिए मजबूर है। पीड़ित का कहना है की अगर मेरी कोई सुनवाई नहीं हुई तो हम आत्महत्या जैसा कदम उठाने के लिए बाध्य होंगे और जिसका जिम्मेदार जिला प्रशासन होगा।

प्रशासन जेल भेजने की दे रहा है धमकी 

इसके साथ ही उनका कहना है की हमारी विवादित जमीन का स्टे होने के बावजूद भी जिला प्रशासन उक्त माफियाओं के खिलाफ कार्यवाही नहीं कर रहा है। और उल्टा पीड़ित के परिजनों को धमकाया जा रहा है और फर्जी मुकदमों में जेल भेजने की धमकी दे रहा है।