पीएम किसान सम्मान निधि में भ्रष्टाचार का मामला उजागर होते ही किसानों के घर दौड़े अधिकारी

Corruption in PM Kisan Samman Nidhi

सूबे के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा रायबरेली जिले के प्रभारी मंत्री हैं और उनके प्रभार वाले जिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की स्कीम प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि में भ्रष्टाचार का बड़ा मामला प्रकाश में आया है। हालांकि अब जब मामला सामनें आया तो जिम्मेदारों में हड़कंप मच गया है, वो अब सरकारी रकम को वापस कराने के लिए दौड़ लगा रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसानों को एक साल में दो-दो हजार रूपए की तीन किस्त सम्मान निधि के रूप में दे रहे हैं। इस क्रम में डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के प्रभार वाले जिले रायबरेली में अबतक 4 लाख 23 हजार 708 किसानों को योजना के तहत लाभ दिया गया  है।

मृतक किसानों के खातों में भेज दिए लाखो रूपए

हैरान करने वाली बात ये है कि योजना के अन्तर्गत जिम्मेदारों ने लाखों किसानों में 736 ऐसे किसानों के खाते में लाखों रुपये भेज दिए जो इस दुनिया में रहे ही नही। जब मामला उजागर हुआ तो विभाग के अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए। अधिकारियों ने सभी सैकड़ों मृतक किसानों के घर चक्कर लगाना शुरू कर दिया है, वो मृतक किसानों के परिवारजनों से मिन्नतें कर रहे हैं कि किस्त का पैसा वापस कर दें। बता दें कि 25 दिसंबर को लगे कृषि मेले में सबसे ज्यादा भीड़ इसी स्टॉल पर रही। किसानों ने वहां अपनी शिकायतें दर्ज कराई।

वहीं इस पूरे मामले में उप कृषि निदेशक एचएन सिंह ने बताया कि जिन मृतकों के खाते में किसान सम्मान निधि का पैसा गया है उनके परिवारजन वापस कर रहे हैं। किसानों के खाता, आधार नंबर आदि जो कमियां हैं वह दूर कराई जा रही हैं।

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 − 18 =