आगरा नगर निगम में भ्रष्टाचार से हो रही है सरकार की छवि खराब

google

आगरा नगर निगम एक बार फिर से भ्रष्टाचार को लेकर चर्चा में आया है। बता दें आगरा के दोनों मंत्रियों उदयभान सिंह और जी एस धर्मेश ने वित्त मंत्री सुरेश खन्ना शिकायती चिट्ठी लिखी है। बता दे की वित्त मंत्री एवं लेखाधिकारी पवन कुमार पर ठेकेदारों ने रिश्वत और कमीशनखोरी के आरोप लगाये है। शिकायत चिट्ठी में पवन कुमार के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। नगर निगम में भ्रष्टाचार से सरकार की छवि खराब हो रही है।

अब नहीं रुकना पड़ेगा टोल प्लाजा पर

आपको बता दे की यह शिकायत चिट्ठी एबीपी गंगा को मिलने के बाद आगरा नगर निगम में भ्रष्टाचार का मामला एक बार फिर उठ खड़ा हुआ है। क्योंकि 5 बार के विधायक रहे जगन प्रसाद गर्ग जिनका कुछ महीने पहले ही निधन हुआ था। उन्होंने नगर निगम में 27 प्रतिशत कमीशनखोरी की चिट्ठी लिखकर हड़कम्प मचा दिया था। तब भी नगर निगम सुर्खियों में रहा था और ऐसे में भ्रष्टाचार फैलने की बात फिर सुर्खियों में है।

अधिकारी पवन कुमार के खिलाफ शिकायत पत्र लिखने पर उनका कहना कि कुछ महीने पहले वित्तीय स्थितियां गंभीर रही हैं। खर्चों के एवज में आय नगर निगम की कम हुई और इसी वजह से कुछ ठेकेदारों का भुगतान समय से नहीं हो पाया। जिससे नाराज़ होकर ठेकेदारों ने मंत्रियों से शिकायत की है और उन्होंने वित्त मंत्री को चिट्ठी लिखी। बता दे की ईमानदार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के रहते आगरा नगर निगम में जमकर भ्रष्टाचार फैल रहा है। दोनों मंत्रियों द्वारा लिखी गयी चिट्ठी के बाद वित्त मंत्री ने इसकी रिपोर्ट मांगी है। इस विषय में नगर आयुक्त अरुण प्रकाश भी कई बार शिकायत कर चुके हैं।