अंग्रेजों की गोलियों से शहीद हुए 11 शहीदों की शहीद स्थली पर कांग्रेस का कब्ज़ा

Martyrdom site of 11 martyrs
image source - google

जनपद कुशीनगर के नगरपंचायत सेवरही मे स्थित अग्रेजो के गोलियो से शहीद हुए 11 शहीदों की शहीद स्थली परिसर सहित गेस्टहाउस व लाइब्रेरी को 2 फरवरी 2021 को क्षेत्रीय विधायक व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय लल्लू ने पार्टी के नाम से बैनामा करा लिए जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है।

नगर पंचायत सेवरही के अधीन शहीद स्मारक की सुन्दरी करण के साथ ही गेस्टहाउस व लाइब्रेरी निर्माण के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने दो किस्तों मे 40 लाख रूपये देकर निर्माण कराया था।

बताते चले कि कुशीनगर जनपद के सेवरही नगर पंचायत में सन 1942 के दौरान अग्रेजो भारत छोड़ो का नारा बुलंद करने वाले आन्दोनकारियो को असहयोग आन्दोलन के दौरान अग्रेजी फौज ने 11 लोगो को गोलियो से भून दिया था। आजादी के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री पं.जवाहरलाल नेहरु सेवरही आकर शहीदो के याद मे शहीद स्थल का आधार शिला रखा।

जहां उन 11 शहीदों की याद मे राजकीय कार्यक्रम के अलावे प्रति वर्ष शहीद दिवस भी मनाया जाता है। आज उसी शहीद स्थल की भूमि व भवन को प्रदेश के काग्रेंस पार्टी के नाम बैनामा र दिया गया जिसको लेकर शहीदो का अपमान तो किया ही, साथ ही तत्कालीन प्रधानमंत्री स्व0नेहरु का अपमान किया है।

इस कारनामे से विधायक के विरुद्ध लोगो का गुस्सा चरम पर है। शहीद स्थल प्रकरण मे नगर पंचायत सेवरही ने काग्रेंस विधायक को अवैध कब्जा दिये जाने के मामले मे बराबर का भागीदार है। मामले की गंभीरता को देखते हुए पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष त्रिभुवन जायसवाल ने जिले से लगायत प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखित प्रार्थना पत्र देकर कार्यवाही की मांग की।

जिसके क्रम मे जाँच प्रारंभ होते ही काग्रेंस अध्यक्ष, नगरपंचायत अध्यक्ष श्यामसुंदर विश्वकर्मा व अधिशासी अधिकारी अपने-अपने बचाव मे कागजी बचाव का रास्ता तलाशने मे लगे है साथ ही एक दुसरे पर आरोप प्रत्यारोप का दौर भी जारी है।मामला शहीदो के अपमान से जुड़ा है इस लिए काग्रेंस पार्टी सहीत नगर पंचायत सेवरही एक बड़े आन्दोलन का बनेगा शहीदो का शहीद स्मारक।

वहीं 40 लाख रुपये की गोलमाल और शाहिद स्थल के कब्जे से सम्बंधित जानकारी जब बर्तमान नगरपंचायत अध्यक्ष श्यामसुंदर विष्वकर्मा से लिया गया तो वे भी कहे कि है कांग्रेस के विधायक के द्वारा गलती की गई है ऐसा नही होना चाहिए।

दिल्ली में सरकार का मतलब अब कुछ नहीं होगा, उप राज्यपाल के बराबर होगी शक्ति

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और सेवरही के विधायक पर शहीद स्थल के भवन और जमीन को कब्जा करने को लेकर फोन से बातचीत की गई तो वे पूरे आरोप को निराधार बताये और कहे कि शहीद स्थल के नाम से भी जमीन है और कांग्रेस पार्टी के नाम से भी दोनों का पेपर हमारे पास है आरोप गलत है।

Report – मु0 उमर अन्सारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here