सीएम योगी ने मुलायम सिंह यादव और कल्याण सिंह से उनके आवास पर जाकर की मुलाक़ात

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज सुबह दो पूर्व मुख्यमंत्रियों के घर पहुंचे। जहां उन्होंने एक तरफ समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव से उनके कालिदास मार्ग आवास जाकर उनके कुशल क्षेम पूछा और उन्हें दीपावली की बधाई दी। वहीं दूसरी तरफ उन्होंने भारतीय जनता पार्टी में हिंदुओं के फायर ब्रांड नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व राजस्थान के पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह से भी मुलाकात की।

इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संदीप सिंह से भी मुलाकात की। साथ ही आपको बता दें कि इस मुलाकात के कई सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं। यह कहना गलत नहीं होगा कि पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव और कल्याण सिंह से जहां एक तरफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुलाकात की है, वही समाजवादी पार्टी के वर्तमान राष्ट्रीय अध्यक्ष व प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से योगी आदित्यनाथ नहीं मिले। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि अयोध्या में दोनो पूर्व मुख्यमंत्रियों के भूमिका भी अलग नहीं है और इसके सियासी मायने क्या निकाले जा रहे हैं यह कहना गलत होगा फिलहाल।

सुनवाई पूरी होते ही अयोध्या में बुलाया गया अतिरिक्त पुलिस बल

इस मुलाकात के दौरान सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की गैरमौजूदगी पर सीएम योगी ने मुलायम सिंह से बात की। साथ सीएम ने उनके स्वास्थ्य के बारे मे भी पूछा। कुछ देर बाद सीएम योगी पूर्व सीएम व पूर्व राज्यपाल कल्याण सिंह के आवास पर उनसे मिलने गए।

राजनीति में इस मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे हैं। दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों के यहां सीएम योगी ने काफी समय बिताया। योगी ने कहा कि 15 दिनों के भीतर राम मंदिर पर फैसला आना है। मुलाकात को लेकर राजनीतिक हलकों में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है।

सीएम ने कहा कि नवम्बर-दिसम्बर का महीना अयोध्या के लिए हमेशा से अहम रहा है। आज से ठीक 3 दशक पहले ऐतिहासिक तारीख के दिन मुलायम सिंह यादव को मुल्ला मुलायम का नाम मिला था। इसी के बाद कल्याण सिंह कट्टर हिंदू फायरब्रांड नेता बनकर उभरे थे। सीएम ने कहा कि 30 साल पहले अयोध्या की घटना लोगों के जेहन में आज भी ताजा है।