नागरिकता संशोधन बिल संविधान की मूल भावना के अनुरूप-सुधांशु

google

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव अनिल जैन व राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने आज नागरिकता संशोधन बिल को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान सुधांशु त्रिवेदी ने कहा की भारत में अपनी स्थापित परंपरा के अनुसार जब जब ऐसा महसूस हुआ है कि पड़ोस में कहीं लोग प्रताड़ित हो रहे हैं। तब हमने संशोधन किया। जब पड़ोस में नेपाल में दलाई लामा प्रताड़ित हो रहे थे दोनों ने श्याम देखा 70 के दशक में युगांडा में अत्याचार हुआ तो हमने भाटी को शांत किया।

इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा की 8 के दशक में श्रीलंका में तमिलों पर अत्याचार हुआ तो हमें उन्हें शरण दी। इसी क्रम में अगर इस बार भी विधेयक लाकर हमने कुछ ऐसे अपने सहयोगी आसन पीड़ित लोगों को राहत देने का काम किया है। हमने अपनी संवैधानिक आधार को और बेहतर व्यवस्था दी है।

स्पेशल क्राइम ब्यूरो संस्था ने की महत्वपूर्ण बैठक

भारत आज विश्व स्तर के सबसे शक्तिशाली देश के रूप में चल रहा है। तो हमें अपने आसपास के देशों में लोगों को राहत पहुंचाने का कार्य करना होगा जब अफगानिस्तान और पाकिस्तान अपने आप को घोषित रूप से पाकिस्तानी देश कहता है।

इसके साथ ही भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ सुधांशु त्रिवेदी ने राहुल गांधी के रेप इंडिया के बयान पर माफी नहीं मांगने के बयान पर कहा कि राहुल गांधी में बाल सुलभ उच्छंखलता है। इसीलिए उन्होनें माफी न मांगने का बालहठ कर रखा है। राहुल गांधी की यह गलती अक्षम्य है। हमारा देश उन्हें माफ नहीं करेगा।