त्योहारों के मद्देनज़र मुख्यमंत्री ने दिए कड़े निर्देश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवरात्री से लेकर दिवाली तथा छठपूजा तक के सभी त्योहारों के लिए सख्त निर्देश जारी किये हैं। मुख्यमंत्री ने जिला अधिकारी तथा पुलिस अधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के ज़रिये बात की और नवरात्रि, दशहरा, रामलीला, दीपावली समेत अन्य त्योहारों को लेकर स्वच्छता, सुरक्षा आदि के निर्देश दिए। इस वीडियो कांफ्रेंसिंग में उनके साथ अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी, मुख्य सचिव आरके तिवारी, डीजीपी ओपी सिंह सहित अन्य विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री ने दिए ये सख्त निर्देश

  • 1- दिवाली और छठ पूजा तक बिजली की आपूर्ति निर्बाध रहना चाहिए
  • 2- दशहरा के दिन सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ाम किये जाये
  • 3-प्लास्टिक का उपयोग ना होने के लिए भी सुनिश्चित करने को कहा

प्रेस कांफ्रेंस में प्रकाश जावड़ेकर ने बताये मोदी सरकार के निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रशासन के अधिकारियों और जिला पुलिस को सतर्क रहने और आपस में समन्वय बनाये रखने के लिए कहा। मुख्यमंत्री ने ऊर्जा विभाग के अधिकारियों से कहा है कि रविवार 29 सितम्बर से त्यौहार शुरू हो रहे हैं अतः रविवार से लेकर दिवाली और छठ पूजा तक बिजली की आपूर्ति निर्बाध रहना चाहिए और आपूर्ति में कोई भी समस्या नहीं आना चाहिए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे अपने स्तर पर पीस कमेटी के साथ बैठक कर त्योहारों को शांतिपूर्वक करवाएं। दशहरा के दिन रावण के पुतले को जलाते समय पुलिस और प्रशासन के अधिकारी सतर्क रहें।

मुख्यमंत्री इस कांफ्रेंस में कहा कि कई जनपदों में अपराध बढ़ रहे हैं और कहा कि उन ज़िलों के डीजीपी पुलिस अधिकारियों से समीक्षा बैठक करें और जहाँ जहाँ सीएम हेल्प लाइन और आईजीआरएस पोर्टल पर जनता की शिकायतों को ढंग से नहीं सुना जा रहा है उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वच्छता बनाये रखने के लिए नगर निगम, नगर पंचायत और ग्राम पंचायत को अस्थाई शौचालय बनवाने के लिए कहा जिससे स्वच्छता बनी रहे और साथ ही उन्होंने त्योहारों के दौरान प्लास्टिक का उपयोग ना होने के लिए भी सुनिश्चित करने को कहा। साथ ही उन्होंने बताया कि लगातार भारी वर्षा के कारण सब्ज़ियों की आपूर्ति घट गई है जिससे कालाबाज़ारी बढ़ रही है अतः मंडी समितियों के सहयोग से खाद्य सामग्रियों सहित सब्ज़ियों की उपलब्धता का विशेष ध्यान दिया जाए।