CDDEP की चौंकाने वाली रिपोर्ट आई सामने, भारत में इतने लाख लोग होंगे संक्रमित

coronavirus report for india

Coronavirus से समय सभी देश युद्ध स्तर पर लड़ाई लड़ रहे हैं। भारत में भी Coronavirus से निपटने के लिए काफी तैयारियां की जा रही है पर इस बीच सीडीडीईपी की चौकानेवाले रिपोर्ट सामने आई है। यदि इस रिपोर्ट में कहीं गए बात सच होती है तो आने वाला समय भारत के लिए बहुत ज्यादा मुश्किल होने वाला है। जिसमें चीन से भी ज्यादा बुरे हालात भारत में हो सकते हैं।

CDDEP (The Centre For Disease Dynamics Economics and Policy) की रिपोर्ट के अनुसार आने वाले 4 महीनों में भारत में Coronavirus से संक्रमित लोगों की संख्या 25 लाख तक पहुंच सकती है। इस रिपोर्ट में 5 राज्यों को हाईलाइट किया गया है। अप्रैल से मई तक सबसे ज्यादा लोग Coronavirus से संक्रमित होंगे और अगस्त तक संक्रमण कम हो सकता है।

स्वास्थ्य सुविधाओं में कमी 

रिपोर्ट में चिंता जताई गई है कि ‘भारत में इस समय 30 से 50 हजार वेंटीलेटर्स है। जबकि आने वाले समय में कम से कम 10 लाख वेंटीलेटर्स की आवश्यकता होगी। इसके साथ ही भारत को अस्थाई हॉस्पिटल भी बनाने पड़ेंगे। क्योंकि इतने ज्यादा केस सामने आने के बाद स्थाई हॉस्पिटलों में जगह नहीं होगी। संक्रमित लोगों का इलाज कर रहे स्वास्थ्यकर्मियों और हॉस्पिटलों में सुरक्षा के लिए आवश्यक फेस गियर, मास्क, हैजमट सूट, ऑक्सीजन सिलेंडर, आईसीयू बेड आदि की कमी है। इसकी वजह से उनके स्वास्थ्य पर भी इसका असर पड़ सकता है। सरकार को इन सब का भी जल्द इंतजाम करना पड़ेगा।’ बता दे भारत सरकार अस्थाई हॉस्पिटल बनाने के लिए रेलगाड़ियों का उपयोग कर सकती है, इसके लिए विचार किया जा रहा है।

ट्रंप ने डब्ल्यूएचओ पर साधा निशाना, चीन का पक्ष लेने का लगाया आरोप

इन लोगों को ज्यादा खतरा

CDDEP की रिपोर्ट में बताया गया है कि 60 वर्ष से अधिक आयु के लोग और 5 वर्ष तक के बच्चों को संक्रमण का बहुत ज्यादा खतरा है। इन लोगों को इससे बचाने के लिए विशेष ध्यान देना होगा। कोरोनावायरस से बचने का अभी सिर्फ एक मात्र मार्ग दिख रहा है जोकि है पूरी तरह से लॉकडाउन। इसमें सरकार को जनता की आवश्यकताओं का विशेष ध्यान रखना होगा और जनता को सरकार द्वारा बताए गए दिशा निर्देशों का पालन करना होगा। तभी आने वाला कठिन समय का सामना किया जा सकता है।

जांच प्रक्रिया में लानी होगी तेजी

भारत में इस समय हो रही जांच प्रक्रिया धीमी है। इसको और तेज करना पड़ेगा। जिससे वास्तविक में कितने लोग अभी तक संक्रमित हुए हैं। इनका पता चल सके और आगे होने वाले संक्रमण को रोका जा सके।’ इसके लिए सरकार चीन का मॉडल अपना सकती है। चीन ने पूरे देश को 2 महीने के लिए लॉकडाउन कर दिया था और एक हफ्ते में परिवार का सिर्फ एक सदस्य ही बाहर जाकर आवश्यकता का सामान ला सकता था। इसके साथ ही coronavirus से संक्रमित लोगों की पहचान करने के लिए मेडिकल टीम को लोगों के घर पर भेजा जाता था और संदिग्ध लोगों को तुरंत हॉस्पिटलाइज किया जाता था। जिसकी वजह से अब चीन ने संक्रमण फैलने पर काबू पा लिया है। ध्यान दें इस रिपोर्ट को इस आधार पर बनाया गया है कि अगले 12 महीनों तक कोरोनावायरस की कोई दवा नहीं बनेगी। यानी अगर इसकी दवा बन जाती हैं तो वायरस पर काबू पाया जा सकता है।

Coronavirus Report CDDEP – https://cddep.org/covid-19/

मालूम हो आबादी के मामले में विश्व में भारत दूसरे नंबर पर है। इस समय भारत की आबादी 1 अरब 30 करोड़ है। ऐसे में संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है और इसे काबू करना भी मुश्किल हो सकता है। डब्ल्यूएचओ ने भी कुछ दिन पहले कहा था कि कोरोना वायरस का भविष्य में क्या असर होगा। यह भारत चीन जैसे ज्यादा जनसंख्या वाले देशों द्वारा उठाए गए कदमों पर निर्भर करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here