बुलंदशहर : हत्या के जुर्म में 2 को जेल, मृतिका निकली ज़िंदा मचा हड़कंप

death of deceased created a stir
Bulandshahr

बुलंदशहर:। यूपी के बुलंदशहर की एक नवविवाहिता की हत्या के आरोप में भले ही पुलिस ने उसके पति सास व ससुर को जेल भेज दिया गया हो ,मगर आज वह महिला अलीगढ़ में जिंदा मिल गई। बताया जाता है कि महिला का शव 27 जुलाई को गाजियाबाद के साहिबाबाद थाना क्षेत्र में एक अटैची से बरामद हुआ था, जिसकी महिला के परिजनों ने शिनाख्त भी की थी।

पुलिस की मानें तो अब आरोपियों पर लगाई गई गैर इरादतन हत्या की धाराओं को हटाकर , दहेज उत्पीड़न का मामला चलाएगी। बुलंदशहर पुलिस ने गाजियाबाद पुलिस को बरामद हुए अज्ञात शव की जानकारी दे दी है, हालांकि बुलंदशहर पुलिस ने अटैची में गाजियाबाद में बरामद हुए शव का विसरा और डीएनए सुरक्षित कर लिया है।

ये तस्वीर है बुलंदशहर की रहने वाली वरीशा की , जिसकी हत्या के आरोप में उसके ही पति , सास व ससुर को 4 दिन पहले बुलंदशहर पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

ये है पूरा मामला :-

  • दरअसल अलीगढ़ की रहने वाली वरीशा का निकाह बुलंदशहर के आमिर के साथ 1 जून 2020 को हुआ था, वरीशा 23 जुलाई को रहस्यमय तरीके से गायब हो गई थी, जिसकी उसके पति ने बुलंदशहर कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज कराई थी, हालांकि 27 तारीख को गाजियाबाद के साहिबाबाद कोतवाली क्षेत्र में एक अटैची से बरामद हुए एक महिला के अज्ञात शव की शिनाख्त उसके भाई इस्माइल व उसकी मां ने वरीशा के रूप में की थी।
  • जिसके बाद इस्माइल ने अपनी बहन वरीशा की दहेज के लिए हत्या करने का आरोप लगाते हुए उसके पति ,सास व ससुर के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। बुलंदशहर के एसएसपी की माने तो पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।
  • लेकिन आज बुलंदशहर पुलिस जब मामले की जांच में जुटी थी तो पुलिस को जानकारी मिली कि महिला वरीशा जिंदा है। वरीशा को बुलंदशहर पुलिस ने अलीगढ़ के गांधी पार्क थाना क्षेत्र से बरामद कर लिया है।
  • एसएसपी ने वरीशा से पूछताछ के बाद बताया कि जब वह 1 जुलाई को मायके से ससुराल आई थी तो उसके ससुरालियों ने उसके गहने छीन उसके साथ मारपीट की थी, जिससे क्षुब्ध होकर वह घर छोड़कर 23 जुलाई को चली गई थी।
  • हालांकि पुलिस अब  वरीशा की बरामदगी के बाद उसके भाई द्वारा दर्ज कराए गए दहेज हत्या के मामले से गैर इरादतन हत्या की धाराओं को हटाकर दहेज उत्पीड़न का मामला चलाने का दावा कर रही है।
  • मगर बड़ा सवाल ये है कि गाजियाबाद में अटैची में बरामद हुई 27 जुलाई को लाश किसकी थी ?,आखिर वह महिला कौन थी । हालांकि बुलंदशहर के एसएसपी का दावा है कि महिला का बिसरा व  डीएनए सुरक्षित करा लिया गया है और गाजियाबाद पुलिस को मामले की जानकारी दे दी गई है।

रिपोर्ट:-सत्यवीर सिंह…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here