विरोध प्रदर्शन को लेकर ईरान में ब्रिटेन के राजदूत गिरफ्तार

Protest
google

ईरान में यूक्रेन के विमान को मार गिराने के चलते तेहरान में अमीर कबीर यूनिवर्सिटी के बाहर सैकड़ों की संख्या में छात्रों ने विरोध प्रदर्शन किया जिसमे ब्रिटेन के राजदूत रॉब मैकायर भी मौजूद थे। रॉब मैकायर को विरोध प्रदर्शन में शामिल होने की वजह से कुछ घंटों के लिए ईरान की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था जिन्हे बाद में छोड़ दिया गया। इस मामले में ब्रिटेन के विदेश सचिव डोमिनिक रॉब ने नाराजगी का इज़हार करते हुए कहा हैं कि तेहरान में बिना किसी कारण ही उनके राजदूत को गिरफ्तार कर लिया गया और यह अंतरराष्ट्रीय कानून के खिलाफ हैं।

ईरान ने आरोप लगाते हुए कहा कि मैकायर भी विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। प्रदर्शनकारी मांग कर रहे थे कि ईरान की सरकार विमान दुर्घटना के ज़िम्मेदारों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करे। ईरानी पुलिस ने रॉब मैकायर पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने प्रदर्शनकारियों को भड़काया जिससे विरोध प्रदर्शन बढ़ गया और पुलिस को इसपर काबू पाने के लिए काफी मुसीबत उठानी पड़ी। हालाँकि ईरान ने काबुल किया हैं कि उन्होंने गलती से तेहरान के बाहरी इलाके में यूक्रेन के विमान को मार गिराया था। ईरान का कहना हैं कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। इस विमान में 176 लोग सवार थे जिनकी मौत हो गई।

ब्रिटेन के राजदूत ने रविवार को ट्वीट करके प्रदर्शन में शामिल होने से इंकार किया हैं। उन्होंने कहा कि मैं पुष्टि कर सकता हूं कि मैं किसी भी प्रदर्शन में हिस्सा नहीं ले रहा था। उन्होंने कहा कि उनको आधे घंटे तक हिरासत में लिया गया था।

ईरान की तस्नीम न्यूज एजेंसी ने कहा कि मैकायर कुछ कट्टरपंथी तथा विनाशकारी कार्रवाई को अंजाम देने की कोशिश कर रहे थे। जबकि टाइम्स ऑफ इज़राइल का कहना हैं कि सोशल मीडिया की रिपोर्टों से यह ज़ाहिर होता हैं कि ब्रिटिश राजदूत विरोध प्रदर्शनों की फोटो लेते हुए नज़र आ रहे हैं। विदेश सचिव डॉमिनार राब का कहना हैं कि ईरानी सरकार इस समय दोराहे पर खड़ी है और यह सभी राजनीतिक तथा आर्थिक अलगाव के साथ अलग स्थिति पर अपना मार्च चालू रख सकती है। यह तनाव को ख़त्म करने या राजनयिक संबंधों को आगे ले जाने के लिए कार्य कर सकता है।

ईरान ने फहराया लाल झंडा, अमेरिका को दी गंभीर युद्ध की चेतावनी…!

ईरान के जनरल कासिम सुलेमानी को एक हवाई हमले में अमेरिका ने मार दिया था जिसके बाद बोखलाए ईरान ने इराक में अमेरिका के दो सैन्य ठिकानों पर एक बैलिस्टिक मिसाइल से हमला किया। जवाबी कार्रवाई में इराक के कई सैनिक मारे गए। यूक्रेन के जहाज़ में मरने वाले बहुत से युवा ईरानी छात्र थे जो कनाडा में पढ़ाई करने गए थे। ईरान कि राजधानी तेहरान में प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस छोड़ी और कई लोगों को गिरफ्तार भी किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here