भाजपा एमएलसी विद्यासागर सोनकर ने दिया बयान

महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती पर सतत विकास का लक्ष्य पाने के लिए आहूत विशेष सत्र में शामिल न होकर विपक्ष ने बापू का अपमान किया। विपक्ष का रवैया महाभारत के दुर्योधन की तरह है, जिसकी धर्म के बजाए अधर्म की ओर जाने की प्रवृत्ति दिखती है। यह बात बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा के 36 घंटे लगातार चलने वाले विशेष सत्र में चर्चा की शुरुआत करते हुए कही। लगभग दो घंटे के संबोधन में मुख्यमंत्री ने संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा निर्धारित सतत विकास के 16 लक्ष्यों के प्रति प्रतिबद्धता जताते हुए केंद्र व प्रदेश सरकारों द्वारा इस दिशा में किए गए कार्य गिनाए। सत्र से गैरहाजिर सपा, बसपा और कांग्रेस सदस्यों की निंदा करते हुए उन्होंने पूर्ववर्ती सरकारों को विकास विरोधी करार दिया।

भाजपा एमएलसी विद्यासागर सोनकर ने अपने बयान कहा की हम अपने प्रदेश के लोगों को ढाई साल की सरकार ने क्या दिया है के बारे में चर्चा और स्वच्छ और स्वस्थ भारत के संबंध में जन आंदोलन के रूप में बदलाव किया है और उस पर चर्चा हो रही है । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने यह निर्णय लिया था कि सतत विकास के लिए बैठक पर चर्चा की जाएगी और महात्मा गांधी की 150 वी जयंती के अवसर पर चर्चा आगे बढ़ाई जाएगी की सतत विकास कैसे हो , इसमें तय हुआ था कि 36 घंटे तक सतत विकास की प्रक्रिया के बिंदुओं पर चर्चा की जाएगी ।

गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने भ्रष्टाचार मामले का किया ख़ुलासा

उन्होंने कहा की हमारा नारा था भ्रष्टाचार मुक्त भारत विकास युक्त भारत और कांग्रेस मुक्त भारत और वह सब हमने कर कर दिखाया है और कहा इस देश की जनता ने उसका पूरा सहयोग दिया है। गांधी जी ने जिन आदर्शों और मूल्यों को सबके सामने रखा आज कांग्रेस उसका बहिष्कार कर रही है। हमारे विपक्ष के मित्रों ने विकास से मुंह मोड़ा है, इसीलिए जनता भी उनका साथ नहीं दे रही है। गांधी ने कहा था कि कांग्रेस को खत्म कर देना चाहिए। उनको अनुमान था कांग्रेस का आने वाला नेतृत्व कैसा होगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। गांधी जी के सपने को आज जनता ने पूरा कर दिया है। जनता ने कांग्रेस का विसर्जन कर दिया है। आज केंद्र और यूपी सरकार की योजनाओं से लोग आत्मनिर्भर हो रहे हैं।