भोपाल गैस त्रासदी: एमपी सीएम ने कहा बनेगा स्मारक और शुरू होगी पेंशन

Bhopal gas trasdi
image source - google

आज से 36 साल पहले भोपाल में हुई गैस त्रासदी पर जल्द ही स्मारक बनेगा और पीड़ित महिलाओं को पेंशन देना फिर से शुरू किया जायेगा। इस बात की जानकारी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खुद दी।

एमपी सीएम ने कहा कि जो गैस पीड़ित भाई-बहन बचे हैं उनकी ज़िंदगी कैसे गुजरी हम जानते हैं। मेरी वो विधवा बहनें जिनका सबकुछ त्रासदी में चला गया उनकी 1000 रूपए की पेंशन जो 2019 में बंद कर दी गई थी दोबारा शुरू की जाएगी। ताकि अंतिम समय उनका ऐसे संकटों से न गुज़रे।

सीएम ने आगे कहा कि भोपाल गैस त्रासदी का स्मारक हमें भोपाल में जल्द बनाना चाहिए ताकि ये स्मारक दुनिया को सबक दे, हमें याद दिलाए कि कोई शहर भोपाल न बने। हम असुरक्षा से कोई चीज़ न बनाए जो इंसान पर भारी पड़े। जैसे हिरोशिमा और नागासाकी परमाणु बम का उपयोग न हो ये सीख देते हैं।

क्या है भोपाल गैस त्रासदी

36 साल पहले 1984 में 2 से 3 दिसंबर की रात यूनियन कार्बाइड की फैक्ट्री से करीब 40 टन मिथाइल आइसो साइनाइट गैस का रिसाव हुआ था। जिसकी वजह से हजारों लोगों ने अपनी जान गवा दी थी और लाखों लोग इससे बुरी तरह प्रभावित हुए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here