बदायूँ : राष्ट्रपति से 35 परिवारों ने की सामूहिक इच्छा मृत्यु की मांग…

35 families from President demand
Badaun

बदायूँ :। जिले में नगर पालिका और वक़्फ़ की सम्पत्ति को लेकर विवाद गरमा सा गया है,पुराना आंवला बस स्टैंड जो कि कागज़ों मे वक़्फ़ की सम्पत्ति है। उस पर नगर पालिका ने अपना हक़ जमाते हुए वहाँ 50 वर्षो से अपना व्यापार चला रहे कारोबारियों को खदेड़ने की योजना तैयार कर ली है। नगर पालिका की ओर से कब्रिस्तान के नंबर पर से अतिक्रमण हटाने वक़्फ़ की दुकानों पर लाल निशान लगा कर उसको तोड़ने का नोटिस जारी कर दिया है।

इसके विरोध में यहां के दुकानदारों ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन अधिकारियों को सौंपा और कहा कि हम पहले से ही अपना धंदा सही से नही चला पा रहे है कर्ज़ मे डूबे हुए है और अब हम से अगर हमारा व्यापार छिन गया तो हमारे पास आत्महत्या के अलावा कोई रास्ता नही।

पूरा मामला :-

बदायूँ जिले में जिला प्रशासन के निर्देश पर नगर पालिका शहर में हुए जगह-जगह अवैध अतिक्रमण को हटा रही है।इसके तहत शहर के एसके इंटर कॉलेज के पास स्थित पुराना आँवला बस स्टैंड के कब्रिस्तान की जमीन पर बनी दुकानों को तोड़ने के लिए नगर पालिका की ओर से लाल निशान लगाए गए हैं।

आपको बता दें कि यहां के दुकानदारों का कहना है कि यह जमीन वक्फ बोर्ड की है ना कि नगरपालिका की और वक्फ बोर्ड उनसे किराया भी वसूलता है। दुकानदारों का कहा न है कि दुकान है ना तोड़ने की मांग को लेकर कई बार जिले के अधिकारियों से शिकायत कर चुके हैं,लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई है। सभी दुकानदारों का कहना है की थक हार कर राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु की मांग करते हैं,उनका कहना है कि जब उनकी दुकानें टूट जाएंगे और वह बेरोजगार हो जाएंगे तो जी कर क्या करेंगे।

दूसरी ओर जिलाधिकारी कुमार प्रशांत का कहना है कि व्यापारियों की परेशानी को देखते हुए हम उनकी पूरी दुकानो को धुअस्त नही करेंगे सिर्फ 5 फिट दुकान ही गिराई जाएंगी तकि सड़क का चौड़ीकरण किया जा सके।

रिपोर्ट:-नियाज़ी खान…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here