सोलापुर में कांग्रेस के खिलाफ गरजे अमित शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुरुवार को महाराष्ट्र के सोलापुर में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा कश्मीर में धारा 370 को खत्म करके भारत को “एकीकृत” करने का “महान काम” किया गया है। उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के प्रमुख शरद पवार को अपना पक्ष स्पष्ट करने को कहा। उन्होंने कहा वे इसके साथ हैं या इसके खिलाफ अपना पक्ष स्पष्ट करें।

भाजपा के प्रचार के लिए महाराष्ट्र के सांगली और सोलापुर जिलों में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए, शाह ने कांग्रेस और NCP पर वोट बैंक और तुष्टीकरण की राजनीति करने का आरोप लगाया। भाजपा अध्यक्ष ने दुनिया भर में भारत की छवि को मजबूत करने के लिए प्रधान मंत्री मोदी की सराहना की।

शाह ने दावा किया कि कांग्रेस और NCP ने 21 अक्टूबर को महाराष्ट्र चुनावों से पहले ही अपनी हार मान ली है और लोगों से भाजपा-शिवसेना और सहयोगियों को दो-तिहाई बहुमत या राज्य की कुल 288 सीटों में से 222 सीटों पर फिर से चुने जाने का आग्रह किया है।

सुधांशु त्रिवेदी ने राज्यसभा के सदस्य पद के लिए भाजपा से दाखिल किया अपना पर्चा

शाह ने पवार से यह भी स्पष्ट करने को कहा कि महाराष्ट्र के लोगों के लिए कांग्रेस-राकांपा की सरकारों ने क्या किया। शाह ने एक सभा में कहा, “प्रधानमंत्री बनने के बाद, मोदीजी संसद में एक ऐतिहासिक प्रस्ताव लाए हैं। उन्होंने धारा 370 और 35A को खत्म करने का बड़ा काम किया।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस और NCP ने हालांकि मोदी और प्रस्ताव का विरोध किया। शाह ने कहा की शरद पवार जी को महाराष्ट्र के लोगों को बताना चाहिए कि आप धारा 370 को खत्म करने के पक्ष में हैं या नहीं?”। उन्होंने कहा की मैं पूछना चाहता हूं कि आपने उस प्रस्ताव का विरोध क्यों किया जब पूरा देश कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाना चाहता है। क्योंकि आप वोट बैंक की राजनीति, तुष्टीकरण की राजनीति करना चाहते थे।