Amethi : नाबालिग का अश्लील वीडियो बनाकर युवक तीन माह तक करता रहा रेप

अमेठी। उत्तर प्रदेश पुलिस अपने आप में एक नायाब पुलिस है। यहां की पुलिस से ना तो अपराधी संभलते हैं और ना ही उनके स्वयं के असलहे । क्योंकि आए दिन यह देखने और सुनने को मिलता है कि कभी अपराधी पुलिस कर्मियों की पिस्टल छीन कर भाग रहा है तो कभी वह उनकी गिरफ्त से स्वयं भाग जाता है और पुलिस है की बड़ी आसानी से यह सब करने की इजाजत दे देती है। जी हां एक ऐसे ही मामले की बात हम कर रहे हैं जो अमेठी जनपद से निकल कर आया है। जहां पर अपहरण जैसी गंभीर वारदात की गवाही देने गई नाबालिग लड़की का पुलिस अभिरक्षा से ही गायब हो जाती है और पुलिस सिर्फ देखने के सिवाय कुछ नहीं कर पाती है। बाद में बड़े गर्व से पुलिस यह बताती है की पुलिस अभिरक्षा से लड़की भाग गई है । जिसकी हम तलाश कर रहे हैं छानबीन कर रहे हैं और खोज कर रहे हैं। इसके लिए टीमों का भी गठन कर दिया गया है और जल्द ही उसको हम ढूंढ निकालेंगे। सबसे बड़ा सवाल यह है की आखिरी पुलिस कब तक इतनी लापरवाही से काम करती रहेगी? कि अपराधी हो या सामान्य सी लड़की जो पुलिस को चकमा देकर भाग जाती है।

यह था पीड़ित का मामला

अमेठी जिले के तिलोई तहसील थाना फुरसतगंज अंतर्गत पूरे रानी मजरे भदैया महमूदपुर के रहने वाले सुल्तान की पत्नी राकिया ने 4 अगस्त 2020 को पुलिस अधीक्षक अमेठी के नाम प्रार्थना पत्र दिया । जिसमें उन्होंने बताया की मेरी पुत्री साजिया जिसकी उम्र 17 वर्ष है और वह नाबालिक है । लगभग 3 माह पूर्व गांव के ही ताज मोहम्मद पुत्र लाल मोहम्मद ने मेरी पुत्री ताजिया के साथ जबरन दुष्कर्म किया तथा ताज मोहम्मद का बहनोई इस्माइल भी घटना के समय मौजूद था । जिसने दुष्कर्म की घटना का वीडियो बना लिया और उसी अश्लील वीडियो को दिखाकर ताज मोहम्मद मेरी पुत्री के साथ लगातार तीन महीनों तक दुराचार करता रहा । तब मेरी पुत्री ने मुझे आपबीती बताई इसके बाद मैं अपनी पुत्री साजिया को लेकर थाना फुरसतगंज 20 जुलाई को गई थी और घटना की पूरी वारदात मेरी पुत्री ने थाना अध्यक्ष महोदय को बताई तथा प्रार्थना पत्र भी दिया। लेकिन अब तक कोई कार्यवाही नहीं की गई। अब लाल मोहम्मद व उसके परिजन एवं बहनोई के द्वारा दुष्कर्म का वीडियो वायरल करने व साजिया को जान से मारने की धमकी दे रहे। इस बात की शिकायत लिखित रूप से राकिया ने पुलिस अधीक्षक महोदय से की। इसके बाद 6 अगस्त 2020 को राकिया ने जायस कोतवाली में लिखित रूप से तहरीर दिया कि मेरी पुत्री साजिया जो अपनी बहन रजिया पत्नी मोहम्मद अमजद निवासी पुरे गुलाम खान मजरे मीरामऊ थाना जायस के यहां पिछले 10 दिनों से रह रही थी । आज सुबह 6 अगस्त को उसे बहला-फुसलाकर ताज मोहम्मद पुत्र लाल मोहम्मद व उसका बहनोई इस्लाम पुत्र अल्लाह रहीम निवासी पुरे जानी भदैया महमूदपुर थाना फुरसतगंज भगा ले गए हैं। मेरी बड़ी पुत्री ने जब मुझे सूचना दिया तब मुझको पता चला । मैंने अपनी पुत्री को बहुत ढूंढा लेकिन कहीं नहीं मिली। राकिया कि इस तहरीर पर जायस थाने में 6 अगस्त को ही मुकदमा अपराध संख्या 212/20 20 धारा 363, 366 का मुकदमा पंजीकृत कर जांच एवं धरपकड़ शुरू कर दी गई। जिसके बाद लाल मोहम्मद को पुलिस पकड़ कर ले आई । इसके बाद लड़की को भी बुलाया गया । इसके बाद पुलिस ने कहा कि अपनी लड़की को ले जाओ और मेडिकल करवाओ । मैं लड़की को लेकर गई मेडिकल कार्रवाई मेडिकल करवाने के तीसरे दिन मुझे बताया गया कि रिपोर्ट लाना है । फिर मैं आई और रिपोर्ट लाने गई और रिपोर्ट लाकर मैंने थाने में दे दिया । उसके बाद पता लगा कि लड़की थाने से भाग गई। दरोगा ने फोन करके बताया कि आप की लड़की भाग गई है।

वहीं पर मोहम्मद आजाद ने बताया कि यह हमारे साले की लड़की है । वह हमारे यहां 25 जुलाई को आई पिछले 10 दिनों से मेरे यहां रह रही थी । 5 अगस्त को हमारी लड़की को सांप काट लिया हम लोग उसमें व्यस्त हो गए । रात के 2:00 बजे तक उसकी दवा करा कर घर आए और सो गए । उसके बाद लड़की ढाई 3:00 बजे के आसपास घर से लापता हो गई । फिर हमको सूचना हुई कि ताज मोहम्मद सन ऑफ लाल मोहम्मद लड़की को लेकर भाग गया है । फिर सुबह 6 अगस्त को हम थाना जाए पहुंचे जहां पर हमने एफ आई आर कराया और एफ आई आर हो गए। उसके दो-तीन दिन बाद लाल मोहम्मद को पकड़ा गया । फिर लड़की को हाजिर कराया गया । लड़की का मेडिकल इत्यादि सब कुछ हो गया । उसके बाद 21 अगस्त की शाम लगभग 7:00 बजे यादव दरोगा ने फोन करके बताया कि लड़की कहीं भाग गई है । फिर रात में हम प्रधान के साथ यहां आए। जबसे लड़की का मेडिकल हुआ वह पुलिस कस्टडी में ही थी । हमको लगता है कि लाल मोहम्मद तथा अन्य लोगों की साजिश है। एक बार और थाने से भाग गई थी जब ढूंढा तो मिल गई ।हम चाहते हैं कि लड़की को हाजिर किया जाए मेरे साथ ही न्याय होना चाहिए अन्याय नहीं।

इस पूरे मामले पर जब अपर पुलिस अधीक्षक दयाराम सरोज से बात की गई तो उन्होंने बताया कि यह जायस का मामला है । एक लड़की अपनी बहन के यहां ग्राम मोहना में आई हुई थी जो ताज मोहम्मद नामक एक लड़के के साथ चली गई थी। जिसके खिलाफ जायस थाने में 363, 366 का मुकदमा दर्ज कराया गया था और इसे 17 अगस्त को बरामद भी किया गया था। अभी उसका 164 का बयान कराना शेष बचा था। बाकी 161 का बयान हो चुका था। उसका मेडिकल हो गया था तथा उसकी रिपोर्ट भी आ गई थी । वह लड़की अनामिका त्रिवेदी नामक एक कांस्टेबल के सुपुर्दगी में थी। जिसमें उसकी कस्टडी से वह कहीं चली गई है । उसकी बरामदगी के लिए टीमें बना दी गई है और महिला कांस्टेबल की इस लापरवाही के लिए अनामिका त्रिवेदी को निलंबित कर दिया गया है तथा उसकी बरामदगी हेतु प्रयास किया जा रहा है । अभी कोई सुराग नहीं मिला है लेकिन जल्द ही मिल जाएगा।

रिपोर्ट- आदित्य तिवारी

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × four =