अमेरिका: पैसे के लिए नहीं दोस्ती के तोहफे के रूप में भारत को दिए जा रहे 200 वेंटीलेटर्स

america donate ventilators
image source - google

कोरना महामारी से निपटने मैं भारत का सहयोग करने के लिए अमेरिका ने भारत को 200 वेंटिलेटर देने का ऐलान किया था। 16 मई को राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मुझे यह घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है कि संयुक्त राज्य अमेरिका भारत में हमारे दोस्तों को वेंटिलेटर दान करेगा। हम इस महामारी के दौरान भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ खड़े हैं। हम टीका बनाने में भी सहयोग कर रहे हैं। हम मिलकर इस अदृश्य शत्रु को हरा देंगे।

इसी को लेकर पिछले 3 दिनों से सोशल मीडिया पर चर्चा हो रही थी कि अमेरिका 200 वेंटीलेटर्स भारत को देगा, लेकिन उसके लिए पैसे भी लेगा। इसको लेकर अब अमेरिका ने स्पष्ट किया है कि भारत को वेंटिलेटर दोस्ती के तोहफे के रूप में दान किए जा रहे हैं और इसका कोई पैसा नहीं लिया जाएगा। यूएसए की एक्टिंग डायरेक्टर रमोना एल हमजाई ने यह बात एक न्यूज़ चैनल द्वारा पूछे सवाल के जवाब में बताई। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि अमेरिका द्वारा भारत को दिए जा रहे वेंटीलेटर्स पुराने नहीं है, सभी वेंटीलेटर्स नए हैं।

बता दें 1 वेंटीलेटर की कीमत 10 लाख रुपए है और 200 वेंटीलेटर्स की कीमत लगभग 20 करोड़ रुपए हुई और अमेरिका भारत को यह दोस्ती के तोहफे के रूप में दे रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के ट्वीट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा की शुक्रिया डॉनल्ड ट्रंप, इस महामारी से लड़ाई में हम साथ हैं। ऐसे समय में यह बहुत आवश्यक है कि सभी देश आपस में मिलकर काम करें और हर संभव प्रयास करें कि विश्व जल्द स्वस्थ हो और कोविड-19 से मुक्त हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here