UP सरकार के तमाम दावे चूर, करोड़ो रूपये की लागत से बना DAM टूटा…

crumbled, broken at a cost of crores of rupees
Gonda

करोड़ो रूपये की लागत व भष्ट्राचार से बना Gonda का बहुचर्चित भिखारीपुर-सकरौर बांध (Dam) आखिरकार कट ही गया और इस बांध का लगभग 50 मीटर का हिस्सा कटकर नदी में समा गया। UP सरकार के तमाम दावों के बावजूद भी हर साल यह बांध टूट जाता है औऱ हर साल इस बांध पर करोड़ो निकाल लिये जाते हैं।

आपको बता दें कुछ दिन पहले सुबे के मुख्यमंत्री Yogi Adityanath ने गोंडा पहुंचकर इस Dam का दौरा करके ग्रामीणों को आश्वस्त किया था,कि बांध किसी दशा में नहीं कटेगा साथ ही उन्होंने यह भी कहा था। कि अगर बांध कटता है तो अधिकारी कार्यवाही के लिए तैयार रहें।

लगातार लगा रहा मंत्रियों का दौरा

इसके बाद लगातार यहां पर मंत्रियों का दौरा लगा रहा जिसमें जलशक्ति मंत्री के साथ ही अभी 2 दिन पहले ही गन्ना मंत्री ने भी हवाई सर्वेक्षण करते हुए बैठक की थी।

लेकिन इन सबके बावजूद भी इस Dam को कटने से नहीं बचाया जा सका और अब यंहा स्थिति भयावह हो चुकी है। ग्रामीणों का आरोप है की बाढ़ खंड के जो इंजीनियर व कर्मचारी यहां पर राहत बचाव कार्य के लिए लगाए गए वह यहां पर नहीं बल्कि अलग एक कमरा लेकर वहां आराम फरमा रहे हैं।

जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने किया था दावा 

पिछले दिनों गोंडा पहुँचे जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने भी दावा किया था। कि अबकी बंधा नहीं कटेगा लेकिन मुख्यमंत्री व जल मंत्री जी के तमाम दावों के बावजूद भी तरबगंज के बिसुनपुरा गांव के पास भिखारीपुर -सकरौर बांध कट गया है। बांध का करीब 50 मीटर हिस्सा नदी में समा गया है। और घाघरा का पानी गांव मे घुसकर तबाही मचा रहा है।

बांध कटने से आसपास के लोगों के घरों मे पानी घुस गया है और ग्रामीण गांव छोड़कर पलायन मे जुट गए हैं। बांध कटने से ग्रामीणों मे दहशत का माहौल है। सूचना मिलते ही जिले के प्रशासनिक अधिकारी मौके पहुंचे लेकिन जिले के व बाढ़ खण्ड के अफसरों की यह लापरवाही तरबगंज के सैकड़ों गांवों में भारी पड़ी है।

मौके पर पहुँचे जिला अधिकारी

वहीँ सूचना पाकर मौके पर पहुँचे जिला अधिकारी डॉ.नितिन बंसल (Nitin Bansal) से बात की गई। तो उन्होंने बांध काटने की बात स्वीकार करते हुए बताया कि तरबगंज में बिसुनपुरा गांव के पास भिखारीपुर सकरौर बांध नदी का बहाव तेज होने से 40 से 45 मीटर कट गया है।

अभी तक जो जानकारी मिली है उसके अनुसार नदी का पानी धीरे-धीरे आबादी की तरफ बढ़ रहा है। जिसे देखते हुए 42 परिवारों के 162 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुचाया जा चूका है। CM Yogi ने आश्वासन दिया है की जिसको भी जरूरत होगी राहत के पैकेट दिये जायेंगे, इसके अतिरिक्त लोगो को खाद्य सामग्री भी दी जाएगी। हमारी कोशिश है कि रिंग बांध बनाते हुए नदी के पानी को आबादी क्षेत्र में जाने से रोक सकें। मौके पर टीमें लगाई गई है और राहत-बचाव का कार्य चल रहा है।

रिपोर्ट:-अतुल कुमार यादव…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here