नागरिकता संशोधन बिल को लेकर अखिलेश यादव ने किया ट्वीट

google

गन्ना किसानों का बकाया भुगतान, गन्ना मूल्य बढ़ाने और पराली जलाने वाले किसानों की गिरफ्तारी के खिलाफ प्रदेश के हर जिले में लगातार विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। वही इस मुद्दे को अब राजनीती मुद्दा बनाया जा रहा है। दरअसल सभी किसानो ने सरकार से गन्ने का मूल्य बढ़ाने की मांग की थी। लेकिन भाजपा सरकार ने इस कोई सुनवाई नहीं की तथा इस मुद्दे को अनसुना कर दिया और गन्ने का मूल्य अपने दाम से एक पैसा भी नहीं बढ़ा।

गन्ने का मूल्य बढ़ाने के लिए राज्यपाल को दिया गया ज्ञापन

इसी मामले को लेकर आज उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट किया। उन्होंने नागरिकता संशोधन बिल को लेकर ट्वीट किया। साथ ही उन्होंने कहा की मैंने पहले कहा था: इनकी राजनीति ध्यान हटाने और समाज बाँटने की है।जो की भारत का और संविधान का अपमान है। इस सरकार ने जितने भी वादे किये उसमे से ना किसान की आय दुगनी हुई, ना गंगा साफ़ हुई, ना अर्थव्यवस्था में सुधार लाए ,ना काला धन वापस लाए ,ना नौकरियाँ लाए,और ना ही बेटियों को बचा पाए ,ना विकास कर पाए।