ऑस्ट्रेलिया सरकार क्यों मारना चाहती हैं 13000 KM का सफर तय करने वाले इस कबूतर को

pigeon traveling 13000 km
image source - google

एक कबूतर 13 हजार किलोमीटर का लम्बा सफर तय करके अमेरिका से ऑस्ट्रेलिया पहुंचा है। जिसे अब वहां कि सर्कार मारना चाहती है।

कबूतर का नाम है Joe

जानकारी के अनुसार इस कबूतर का नाम Joe है जोकि अमेरिका के ओरेगॉन में कबूतरों की रेस में शामिल था पर वह बीच में ही गायब हो गया। पहचान के लिए कबूतरों के पैर में कपडा बंधा गया था। Joe के पैर में नीले रंग का कपड़ा बंधा हुआ है।

26 दिसम्बर को कबूतर Joe मेलबर्न पहुंचा। केविन नाम के एक व्यक्ति को ये कबूतर उसके घर के पीछे मिला। पैर में लगे नीले कपड़े की वजह से पता चला की ये कबूतर अमेरिका से 13000 किलोमीटर का सफर तय करके आया है। जिसके बाद केविन ने इसका नाम अमेरिका के होने वाले राष्ट्रपति जो बाइडन के नाम पर रख दिया।

कबूतर को बताया खतरा

ये खबर तेज़ी से फैली और जब ऑस्ट्रेलिया के कृषि विभाग तक ये बात पहुंची। तो उन्होंने इसे खाघ व पोल्ट्री उद्योंगों की सुरक्षा के लिए खतरा बताया। इसके साथ ही उन्होंने कहा की ये कबूतर इतना लम्बा सफर करके आया है तो कई बीमारियां भी साथ लेकर आया होगा। इसके बाद क्वारंटीन एंड इंस्पेक्शन सर्विस ने केविन को कॉल किया और joe कबूतर को पकड़ने को कहा।

सरकार के इस फरमान से लोग काफी नाराज है और उसे न मारने की अपील कर रहे है। वहीँ कविं का कहना है की वो कबूतर को खाना-पानी देते है। लेकिन वो पास महि आता और घर की चाट पर ही बैठा रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here