कानपुर : मानकों को ताक पर रखकर अवैध बिल्डिंगों के निर्माण के चलते हुआ बड़ा हादसा

A major accident occurred
Kanpur

कानपुर :। उत्तर प्रदेश के कानपुर में मानकों को ताक पर रखकर जनपद में जगह जगह अवैध बिल्डिंगों का निर्माण किया जा रहा है। आलम यह है कि जनपद में जगह जगह अवैध बिल्डिंग तनी हुई है जिन की सुध लेने वाला कानपुर विकास प्राधिकरण व जिला प्रशासन लगातार सोता हुआ दिखाई दे रहा है। जिसके चलते कानपुर के कुली बाजार में आज लगभग 40 फुट से अधिक खोदे गए बेसमेंट में बिल्डिंग का निर्माण किया जा रहा था, निर्माण के चलते बिल्डिंग पूरी तरह से ढह गई।

वही सूचना पाकर मौके पर पहुंची जिला प्रशासन व पुलिस विभाग की टीम ने तत्परता से रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल था जिसको इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा गया है।

वहीं मलबे को हटाकर लगातार जिला प्रशासन द्वारा रेस्क्यू ऑपरेशन किया जा रहा है, आपको बता दें कि कानपुर के दबंग बिल्डर विनोद जैन, भाजपा नेता रवि शुक्ला व कांग्रेस नेता पवन गुप्ता की पार्टनरशिप में इस बिल्डिंग का निर्माण किया जा रहा था बिल्डिंग को मानक को भी ताक पर रखकर लगभग 40 फुट से अधिक का गड्ढा खोदा गया था जिसके चलते एक बड़ा हादसा कानपुर के कुली बाजार में देखने को मिला।

वही आपको बता दें कि द बिल्डर विनोद जैन की कुली बाजार के अंदर कई अवैध बिल्डिंग बनाई गई हैं, इंडिगो के निर्माण में जेल से सांठगांठ करके मानकों को ताक पर रखकर बिल्डिंगों का निर्माण करवाया गया है। इलाकाई लोगों द्वारा कई बार इस पूरे मामले में जिले के अधिकारियों को शिकायत की गई लेकिन जिले के अधिकारियों ने किसी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं की।

कहीं ना कहीं अगर देखा जाए तो जिस तरीके से मांगों को ताक पर रखकर अवैध बिल्डिंगों का निर्माण किया जा रहा है, उसे साफ तौर पर यह कहा जा सकता है कि केडीए विभाग और जिला प्रशासन अपनी गहरी नींद में सो रहा है जिसके चलते इतना बड़ा हादसा कानपुर के कुली बाजार में देखने को मिला। वहीं अगर बात की जाए कानपुर के अधिकारियों की तो उनका कहना है कि रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर मलबे के नीचे दबे लोगों का सर्च ऑपरेशन किया जा रहा है और दबंग बिल्डर के ऊपर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। अब देखने वाली बात यह होगी कि ऐसे दबंगों के ऊपर जिला प्रशासन विभाग द्वारा क्या कार्रवाई की जाती है ताकि भविष्य में इस तरह के हादसे देखने को ना मिले।

रिपोर्ट:-दिवाकर श्रीवास्तवा…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here