बाराबंकी : दिल दहला देने वाली घटना, एक ही परिवार के 5 लोगों ने किया सुसाइड

5 people suicide
Barabanki

बाराबंकी :- कोरोना महामारी के बीच उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है, जहां एक ही परिवार के पांच सदस्यों ने आत्महत्या कर ली। इसमें पति-पत्नी के साथ तीन बच्चे शामिल हैं। आशंका जताई जा रही है कि दंपति ने पहले तीनों बच्चों को मार डाला और फिर दोनों ने खुद को फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। इस घटना से पूरे इलाके में दहशत का माहौल बन गया है। मामले की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और जांच-पड़ताल शुरू की।

घटना बाराबंकी में नगर कोतवाली क्षेत्र के सफेदाबाद की है। जहां आज उस समय हड़कंप मच गया, जब एक ही परिवार के पांच सदस्यों की मौत की बात सामने आई। खबर आग की तरह चारों तरफ फैली और परिवार में कोहराम मच गया। मौके पर पुलिस-प्रशासन के आलाधिकारी पहुंचे और जांच पड़ताल शुरू की। जानकारी के मुताबिक मृतक विवेक शुक्ला तीन भाइयों में बीच का भाई था और उसने अनामिका नाम की लड़की से लव मैरिज की थी। उनकी दो लड़कियां रितु शुक्ला (7 वर्ष), पोयम शुक्ला (10 वर्ष) और एक लड़का बबल शुक्ला (5 वर्ष) थे। घरवालों से जानकारी मिली कि विवेक शुक्ला अरने परिवार से अलग रहता था। वह पहले मोबाइल का काम करता था, बाद में उसने गैराज का काम शुरू किया। परिजनों के मुताबिक बाहर वालों से सुनाई पड़ा था कि विवेक पर कुछ कर्जा था और उसी से वह परेशान रहता था।

मृतक के भाई ने बताया कि शादी के बाद से हमारा उससे कोई मतलब नहीं था। वह अपने परिवार के साथ अलग रह रहा था। आज अचानक जब हम लोगों को कमरे से कुछ आहट नहीं मिली तो मां ऊपर देखने गईं। उन्होंने देखा कि मेरा भाई फांसी से लटक रहा था। जिसपर मैंने आकर दरवाजा तोड़ा और भाई को लटकता देख बाहर भाग आया। उसके बाद हमने अपने पूरे परिवार और पुलिस को इस बात की जानकारी दी। भाई ने बताया कि मृतक पहले मोबाइल का काम करता था बाद में अपना गैराज का काम शुरू किया। इस समय वह क्या कर रहा था, इसका अंदाजा नहीं है। क्योंकि हम लोगों में बिलकुल भी पटती नहीं थी। भाई ने बताया कि बाहर के लोगों से सुना था कि उसपर कुछ कर्जा था,जिससे वह परेशान चल रहा था।

मृतक की मां ने बताया कि उनके बेटे ने दूसरी कास्ट की लड़की से शादी की थी, लेकिन उससे हम लोगों को कोई परेशानी नहीं थी। उनका लड़का शादी के बाद से ही अलग रहता था और हम लोगों से कोई मतलब नहीं रखता था। उसने ऐसा कदम क्यों उठाया,हम लोगों को इसकी कोई जानकारी नहीं है।

वहीं मृतक के पिता के मुताबिक दो दिनों से कमरा बंद था औऱ एसी चल रहा था। हमें चिंता हो रही थी कि आखिर ये लोग बाहर क्यों नहीं निकल रहे हैं। लेकिन वह हम लोगों से मतलब नहीं रखते थे। उसके बाद जब हम लोगों ने देखा कि कोई बाहर नहीं निकल रहा तो हमने दरवाजा खटखटाया और आवाज दी, लेकिन कोई कुछ नहीं होला। उसके बाद हमारी पत्नी ने छत से जाकर देखा कि लड़का फांसी से लटक रहा है। फिर हमारे दूसरे लड़के ने कमरे का दरवाजा तोड़कर सबको घटना की जानकारी दी।

मौके पर पहुंचे बाराबंकी के एएसपी आर.एस. गौतम ने बताया कि परिवार के पांच लोगों की मौत हुई है। पति-पत्नी ने पहले तीन बच्चों को मारा फिर खुद भी आत्महत्या कर ली। मामले की जांच पुलिस कर रही है। जल्द ही घटना का खुलासा किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here