राम नगरी में 12 घण्टो में जलेंगे 4 लाख 55 हजार दीप

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने इस बार अयोध्या नगरी को दीपो से जगमगाने का आदेश दिया है। इस बार तीसरे दिव्य दीपोत्सव में सरयू तट पर राम की नगरी के 12 घाटों पर 4 लाख 55 हजार दीप जलाये जायेगे। इसका ले आउट डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विवि प्रशासन की ओर से तैयार कर लिया गया है। सभी घाटों का नक्शा तैयार हो गया है। घाट नंबर 10 कौशल्या घाट पर सर्वाधिक 60 हजार दीप व 688 स्वयं सेवकों को जिम्मेदारी दी गई है। पूरी राम की नगरीपर दीपों को जलाने में 5 हजार 500 स्वयंसेवक लगेंगे।

इस दीपोत्सव का अयोध्यावासियो को बेसब्री से है इंतजार

बता दें की अयोध्या नगरी में इस बार के दीपोत्सव को हर बार से बेहतर और अच्छे तरीके से मानाने का निर्देश मुख्यमंत्री योगी ने दिया है। इस दीपोत्सव की तैयारिया बड़े जोरो-शोर के साथ चल रही है। पूरे अयोध्या नगरी वासी इस दीपोत्सव को देखने के लिए आने वाली तारीख 25 अक्टूबर का बड़ी बेसब्री से इंतजार कर रहे है। इस तृतीय दीपोत्सव को 25 से 26 अक्टूबर तक मनाया जाना है। विवि प्रशासन ने घाटों पर दीप जलाने के लिए ले आउट तैयार कर लिया है। लक्ष्मण घाट से लेकर उर्मिला घाट तक के 12 घाटों पर 4 लाख 55 हजार दीप जलाए जाएंगे। 7  महाविद्यालय समेत 19 स्वयं सेवी संगठन दीपोत्सव का हिस्सा बनेंगे। इसके अलावा सामान पहुंचाने व अन्य कार्यों के लिए एक हजार से अधिक स्वयं सेवक सक्रिय रहेंगे

सबसे ज्यादा दीप जलेंगे कौशल्या घाट पर

बता दें की अयोध्या नगरी में सर्वाधिक 60 हजार दीप कौशल्या घाट पर, लक्ष्मण घाट पर 50 हजार, मांडवी घाट पर 50 हजार, दशरथ घाट पर 50 हजार सहित 4 लाख 55 हजार दीप जलाए जाएंगे। दीपों को जलाने के लिए घाटों पर 4 हजार 305 स्वयं सेवकों की टीम लगाई जाएगी। इसके अलावा सामान पहुंचाने व अन्य कार्यों के लिए एक हजार से अधिक स्वयं सेवक सक्रिय रहेंगे। इस बार 4 लाख 55 हजार दीपों को जला विवि प्रशासन की टीम गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड में नाम दर्ज कराएगी।

इन घाटों पर जलेंगे इतने दीप

घाट संख्या     दीपों की संख्या       स्वयं सेवकों की संख्या      
1               55000                     501
2               30000                     222
3               40000                     186
4               50000                     309
5               25000                     312
6               25000                     188
7               50000                     417
8               40000                     347
9               25000                     374
10             60000                     688
11             25000                     233
12             30000                     516