लखनऊ के 11 थानों में दर्ज हुईं 39 FIR, बवालियों ने छोड़ा इलाका

CAA
google

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में नागरिक संशोधन कानून (CAA) के विरोध में पुलिस ने कई मुकदमे दर्ज किये हैं और उपद्रवियों को गिरफ्तार किया है। लखनऊ के भीतर अबतक 11 थानों में 39 एफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं। पुलिस ने दंगे के 150 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है जबकि 250 लोगों को हिरासत में लेकर निरोधात्मक कार्रवाई की जा रही है। पुराने लखनऊ के अंदर पुलिस लगातार कार्यवाई कर रही है जिसके बाद दंगाइयों ने इलाका छोड़ना शुरू कर दिया है।

लखनऊ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) कलानिधि नैथानी ने बताया कि उन्होंने मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली से बात करके लोगों को जागरूक करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि मौलाना ने बताया है कि लोगों में और प्रबुद्धजनों में संवाद की जो कमी है उसे किस प्रकार दूर किया जाए। साथ ही एसएसपी ने कहा कि लोगों ने जो चिंताएं व्यक्त की हैं कि किसी निर्दोष की गिरफ्तारी ना हो तो लोगों को आश्वस्त हो जाना चाहिए कि किसी भी निर्दोष के खिलाफ कार्यवाई नहीं की जाएगी। ऐसे निर्देश मेरे द्वारा पहले ही दिए गए हैं।

संविधान दिवस पर SSP लखनऊ ने दिलाई समस्त पुलिस अधिकारियों को शपथ

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कहा कि साइंटिफिक एविडेंस हैं चाहे वह सीसीटीवी फुटेज हो या वीडियो फुटेज हो, उसी आधार पर कार्यवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि हर सीओ के अंडर एक एविडेंस टीम बनाई गई है जो बारीकी से हर तथ्य को क्रॉस चेक करेगी और तभी कार्यवाई की जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि रही बात अमन और चैन की तो सभी ने मिलकर हामी भरी है कि हम सभी लोग मिल कर के पहले की तरह शहर में कानून व्यवस्था को स्थापित करेंगे। जो नौजवान लड़के हैं उनको समझाया जाएगा और जो अराजक तत्व हैं उनको मिलकर के ढूंढ कर पुलिस के सामने लाया जाएगा।