अपराधियों के हौसले बुलंद, दिनदहाड़े यूको बैंक में 36 लाख की लूट

● यूपी में अपराधियों के हौसले बुलंद दिनदहाड़े लूट की घटना को दिया अपराधियो ने अंजाम।
● फिल्मी स्टाइल में यूको बैंक के कर्मचारियों से 36 लाख की लूट।
● पीपरपुर थानाक्षेत्र के परसोइया बाबूगंज स्थित यूको बैंक के कर्मचारी से 36 लाख रुपये की लूट।

जहाँ एक तरफ मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ और अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी मुख्यालय से लेकर जिला में अधिकारियों को कानून व्यस्था का पाठ पढ़ा रहे है वही अपराधी ताबड़तोड़ घटनाओ को अंजाम देने में जुटे है ताजा मामला यूपी के अमेठी का है जहाँ दिनदाहाड़े आज फिल्मी स्टाइल में बाइक सवार बदमाशों ने यूको बैंक के कर्मचारियों से 36 लाख रुपये लूट लिए। यही नहीं विरोध करने पर कर्मचारियों पर गोली चला दी। ऐसे में सवाल ये उठता है कि आखिर जिले की पुलिस कहाँ थी और इतनी बड़ी राशि जब जाती है तो सुरक्षा के इंतजाम क्यो नही किये जाते है। वहा मौजूद लोगो ने बताया कि गोली कार पर लगी। इस घटना के दौरान किसी के जानमाल की खबर नहीं है। लूट की घटना के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाल रही है। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद है।

पैसों के लेनदेन को लेकर दोस्त ने ही कराई थी अमित सेठ की हत्या

जानकारी के अनुसार, जिले के पीपरपुर थानाक्षेत्र के परसोइया बाबूगंज स्थित यूको बैंक के कर्मचारी निजी वाहन से आज 36 लाख रुपये लेकर यूको बैंक घोरहा ब्रांच जा रहे थे। इसी बीच कुछ बाइक सवार बदमाशों ने तमंचे के बल पर कर्मचारियों को घेर कर पैसे लूट लिए। विरोध पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। लेकिन गोली किसी कर्मचारी को नहीं लगी। वारदात के बाद बाइक सवार बदमाश असलहा लहराते हुए फरार हो गए।

वहीं पुलिस के अधिकारी बैंक कर्मचारियों से पूछताछ में जुटी है। पुलिस के मुताबिक आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाला जा रहा है। इलाके में नाकेबंदी की गई है। वहीं बदमाशों की तलाश में छापेमारी की जा रही है। ऐसे में सवाल तो उठना लाजमी है कि आख़िर क्यो बैंको के लें देंन में इस तरह की चूक होती है औऱ क्यो नही सुरक्षा मुहैया कराई गयी जिससे ये बड़ी घटना घट गयी।