गणतंत्र दिवस पर इस बार दिखेंगे, वायु सेना को बाहुबली बनाने वाले लड़ाके

image source - ANI

इस बार 26 जनवरी को राजपथ पर आपको कुछ ऐसा नजारा देखने को मिलेगा, जिसे देख आपका सर गर्व से ऊँचा हो जायेगा और दुश्मनो का सर भारत के सामने झुक जायेगा। 26 जनवरी को वायु सेना में में शामिल हुए कुछ देशी तो कुछ विदेशी अति आधुनिक हैलीकॉप्टर, लड़ाकू विमान आदि देखने को मिलेंगे। जोकि भारतीय वायु सेना को बाहुबली बना चुके है।

26 जनवरी को इस बार वायु सेना की झांकी में 5 राफेल विमान, स्वदेशी लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट और लाइट कॉम्बैट हेलीकॉप्टर, सरफेस टू एयर गाइडेड वेपन आकाश मिसाइल सिस्टम और एस्ट्रो मिसाइल जैसे 5 प्रणालियों के मॉडल को प्रदर्शित किया जायेगा। इनके नाम ही काफी है दुश्मनों को दहलाने के लिए।

राफेल को पिछले साल 2019 में 9 अक्टूबर को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस जा कर स्वीकार किया था। जिसके बाद इसे वायु सेना में शामिल कर लिया गया और इस बार 26 जनवरी को आपको वायुसेना की झांकी में 5 राफेल विमान देखने को मिलेंगे। वही भारत में निर्मित आकाश मिसाइल सिस्टम को भी झांकी में शामिल किया गया है। ये अपने टारगेट को 30 km दूर व 18000 मीटर की ऊंचाई पर निशाना बना सकती है। साथ ही ये सिस्टम मिसाइलों को हवा में ही निशाना बना सकता है।

17 साल के छात्र ने किया वो कारनामा, जिसे नासा के वैज्ञानिक भी नहीं कर पाए

एस्ट्रा मिसाइल भी स्वदेशी है, जिसे DRDO ने बनाया है। ये हवा से हवा में मार करती है और अपने लक्ष्य को 70 किलोमीटर दूर भी नष्ट कर सकती है। इसी तरह spice – 2000 बम , S-400 मिसाइल, अपाचे, कमोव आदि आधुनिक विमान व मिसाइल और हैलीकॉप्टर को भारतीय सेना में शामिल किया गया है। जो की भारतीय सेना को बाहुबली बनाते है।

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here