Covid-19: ये 18 स्टेप्स आपके और आपके परिवार के लिए बेहद मददगार साबित होंगे

Home remedies to avoid coronavirus
image source - google

इस समय Covid-19 तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है और इसके लक्षण भी सामान्य है। जिसकी वजह से इसे पहचानने में समस्या होती है और हम असावधानी बरतते हैं या फिर लापरवाही करते हैं। इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि किन 18 स्टेट्स को फॉलो करके आप खुद को और अपने परिवार को Covid-19 से सुरक्षित रख सकते हैं।

1. कोविड होने ही न दें, न ख़ुद को न घर के सदस्यों को। मास्क लगाएं, भीड़ से दूरी, लोगों से दूरी रखें एवं टीका लगवाएं। बात करते समय मास्क नीचे न करें ।

2. सर्दी , खांसी , गला ख़राब, बुखार, थकावट, कमज़ोरी जैसे लक्षण होने पर सबसे पहले isolate हो जाएं। इसे नीम्बू खाने से हो गया, दही खाने से हो गया जैसी बातों में न उलझाएं। आइसोलेट होने से परिवार के अन्य सदस्य बीमार नहीं पड़ेंगे ।

3. उपरोक्त लक्षण होने पर उसे कोविड ही मानें और कोविड का इलाज शुरू करें। टेस्ट करवाने या रिपोर्ट आने की प्रतीक्षा न करें। इस समय यदि घर में एक से अधिक लोगों को ये लक्षण हैं तो 100 प्रतिशत covid ही है ।

4. Isolate होने और इलाज शुरू करवाने के बाद टेस्ट करवाएं, लेकिन यदि टेस्ट के स्थान पर अधिक भीड़ हो, घंटों लगते हों तो टेस्ट को गोली मारें। अभी आपको आराम की ज़रूरत है और भीड़ से अलग रहने की। रैपिड किट टेस्ट भी करवा सकते हैं ।

5. एंटीवायरल फेवीपीरावीर जैसी टेबलेट आरंभिक स्थिति (लक्षण के पहले दो दिन) में ही शुरू करने से फायदा होता है , देर से देने पर कोई असर नहीं आता। अतः टेस्ट रिपोर्ट जल्दी न आ रही हो तो दवाएं शुरू करें ।

6. एक चिकत्सक आरंभिक अवस्था से ही फ़ोन पर गाइड कर सके तो इससे अच्छा कुछ नहीं। सरकारी हेल्पलाइन की मदद भी आप ले सकते हैं ।

7. सभी को ब्लड टेस्ट , सी टी चेस्ट की आवश्यकता नहीं होती । ख़ासकर हल्के फुल्के लक्षण हों तो । किन्तु चौथे , पांचवें दिन भी बुख़ार का बना रहना, कमज़ोरी , थकावट, अत्यधिक खांसी अथवा सांस में दिक्कत होने पर ये टेस्ट करवाना अगले क़दम उठाने के लिए आवश्यक है ।

8. SPO2 देखते रहें , 94 से कम बार बार या लगातार हो रहा हो तो चिकित्सक से बात कर अगला कदम उठाएं ।

9. स्टेरॉइड्स, remdesivir, anticoagulant दवाएं लक्षणों एवं कुछ जांचों के आधार पर दी जाती हैं। एवं जान बचाने में कारगर हैं। अतः कोविड को अब लाइलाज कहना ग़लत होगा ।

10. स्टेरॉयड और एन्टी anticoagulant दवाओं का dose एवं कितने समय तक देनी है ये डॉक्टर को तय करने दें। Remdesivir को छोड़ कर सभी दवाएं अथवा इंजेवशन घर पर भी दिए जा सकते हैं।

11. Remdesivir, toclizumab , प्लाज़्मा न मिलने पर परेशान न हों। इससे कहीं अधिक कारगर दवाएं स्टेरॉइड्स और Anti cogaulant हैं।।

12. भर्ती की स्थिति में वेंटीलेटर बेड के पीछे मत भागिए। गंभीर स्थिति में तुरंत, निरंतर और सही फ्लो में ऑक्सीजन मिलना एवं स्टेरॉयड इंजेक्शन मिलना कहीं अधिक आवश्यक है ।

13. ऑक्सीजन लग जाने के बाद भी ठीक होने की संभावना बेहद अधिक है ।
अतः इस वाक्य को पढ़ लीजिये और बार बार याद करवा लिए ख़ुद को ।

14. कोविड हो जाने पर इससे संबंधित खबरों से दूर हो जाइए । आराम, ध्यान, ऑनलाइन चैस खेलना, संगीत, फ़िल्म देखना, किताब पढ़ना जैसी चीजें करिये । और संतुलित पौष्टिक भोजन लीजिय ।

15. अति आत्मविश्वासी एवं दृढ़ व्यक्तित्व के , दुःसाहसी लोग अधिक संक्रमित एवं गंभीर होते देखे है मैंने । अतः इस समय अपनी धारणाओं को किनारे रख एक्सपर्ट्स की बात मानिए ।

16. कोविड से ठीक होने के बाद भी कुछ दवाओं की आवश्यकता कुछ दिन के लिए हो सकती है । जिसे चिकत्सक को तय करने दें।

परिवार के साथ लंदन गए सीरम CEO, कहा भारत नहीं आना चाहता वापस वैक्सीन के लिए दी जा रही धमकी

17. ऑक्सीजन बॉर्डर लाइन 85 90 के आसपास हो और कोई सुविधा ज़ल्दी उपलब्ध न होने की स्थिति में dexamethason , low molecular weight heparin . एक चिकत्सक से बात करके लगवाएँ एवं
मरीज़ को पेट के बल (proning) लिटवाएँ । फ़िर जितना ज़ल्दी हो सके भर्ती करने की व्यवस्था करें ।

18. कोविड होने पर Typhoid की जांचें false पॉजिटिव आ सकती हैं। कोविड को टायफॉइड मान लेने
पर आप पूरे परिवार को संक्रमित कर सकते हैं।

Article Credit – Anshul Patel (Clinical Researcher)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here